19 नवम्बर 2019, मंगलवार | समय 14:11:39 Hrs
Republic Hindi Logo

जब कश्मीर केन्द्र के हाथों सुरक्षित है, तो मजदूर कैसे मारे गयेः ममता बनर्जी

By Republichindi desk | Publish Date: 10/31/2019 2:34:02 PM
जब कश्मीर केन्द्र के हाथों सुरक्षित है, तो मजदूर कैसे मारे गयेः ममता बनर्जी

रिपब्लिक डेस्कः यूरोपीय संघ के सांसदों ने मंगलवार को कश्मीर का दौरा किया, जिसके बाद उन्होंने कश्मीर की सुरक्षा की पुष्टी की. जिसे लेकर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने केन्द्र पर निशाना साधते हुए कहा है कि अब पूरा जम्मू-कश्मीर प्रशासन केंद्र सरकार के हाथों में है, यूरोपीय संघ के सांसद कश्मीर का दौरा कर रहे थे, इतनी सुरक्षा के बावजूद मजदूर कैसे मारे गए ?  साथ ही बंगाल की सीएम ने इन हत्याओं को लेकर केन्द्र सरकार से जांच की भी मांग की है.

बता दें कि जम्मू-कश्मीर के कुलगाम जिले में मंगलवार को आतंकी हमले में पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के रहने वाले पांच मजदूर मारे गए. कुलगाम आतंकी हमले में मारे गए मजदूरों के शवों को मुर्शिदाबाद लाया गया है. ममता कश्मीर में आतंकी हमलों में मारे गए मुर्शिदाबाद जिले के पांच श्रमिकों के परिवारों को सभी तरह की मदद की जाएगी. ममता बनर्जी ने जम्मूए कश्मीजर में हुए इस दुखद घटना पर दुख व्यक्त किया है. इन हत्याओं के बाद से ही बंगाल की सीएम व राज्यपाल ही नहीं बल्कि  पूरा बंगाल ही इस घटना की निंदा कर रहा है.

साथ ही इस घटना पर दीदी ने कई ट्वीट भी किये हैं. मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा था कश्मीर में नृशंस हत्याओं से हम स्तब्ध और अत्यंत दुखी हैं. मुर्शिदाबाद के पांच मजदूरों ने वहां अपनी जान गवां दी कोई भी सांत्वना मृतक के परिवारों के दुख को दूर नहीं कर सकता. ममता बनर्जी ने कहा कि दुख की इस घड़ी में उनके परिवारों को सभी तरह की मदद दी जाएगी.’ 

मालूम हो कि जम्मू-कश्मीर में मंगलवार को आतंकियों ने पांच गैर कश्मीरी श्रमिकों को गोलियों से भूनकर मौत के घाट उतार दिया. एक अन्य गंभीर रूप से घायल है. मारे गए सभी श्रमिक पश्चिम बंगाल के सागर डिग्गी, मुर्शिदाबाद के रहने वाले हैं.

गौरतलब है कि आतंकियों द्वारा जिन पांच गैर कश्मीरी मजदूरों की हत्या की गई वे सभी पश्चिम बंगाल के मुर्शिदाबाद जिले के रहने वाले थे. उनकी शिनाख्त समरूद्दीन, शेख मोहम्मद रफीक, नसीमुद्दीन, रफीकुल शेख और शेख मुर्सलीन के रूप में हुई है. ज्ञातव्य है कि हाल के दिनों में इससे पहले भी आतंकियों द्वारा घाटी में कई गैर कश्मीरियों को निशाना बनाया गया है. उनमें भी ज्यादातर पश्चिम बंगाल के लोग ही निशाना बने हैं. इस पर यहां लोगों द्वारा तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की जा रही है.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus