15 दिसम्बर 2019, रविवार | समय 17:58:54 Hrs
Republic Hindi Logo

मायापुर में 4 से 8 दिसंबर तक मनेगा गीता जयंती महोत्सव

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 12/2/2019 4:29:39 PM
मायापुर में 4 से 8 दिसंबर तक मनेगा गीता जयंती महोत्सव

रिपब्लिक हिंदी डेस्क: भगवत गीता वह पवित्र ग्रन्थ है जिसमें मनुष्य की सभी जिज्ञासाओं का उत्तर  मौजूद है. इस महान ग्रन्थ के पठन-पाठन, प्रचार एवं मनन करने से मानव जाति का कल्याण  सुनिश्चित है. इस्कॉन मायापुर के मीडिया प्रवक्ता सुब्रत दास ने बताया कि  भगवत गीता के उपदेश ही देश में शांति और भाईचारा का सन्देश प्रस्तुत करने में सक्षम है. आज वर्तमान समाज में चारों तरफ  नफरत और वैमनस्य का माहौल है, ऐसे में गीता के संदेशों का प्रचार बेहद जरूरी है. इसी उद्देश्य से अंतरराष्ट्रीय कृष्ण भावनामृत संघ (इस्कॉन) के मुख्यालय श्रीधाम मायापुर में 4 से 8 दिसंबर तक गीता जयंती महोत्सव का आयोजन किया जायेगा. गीता महोत्सव के संयोजक श्रीपद लक्ष्मी गोविन्द दास के अनुसार पांच दिन व्यापी इस महोत्सव के दौरान कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जायेगा.  

उन्होंने बताया कि पूर्वी भारत के विभिन्न राज्यों पश्चिम बंगाल, असम, ओडिशा, झारखंड एवं नॉर्थईस्ट से 3500 से अधिक भक्त, तीर्थयात्री पांच दिवसीय गीता जयंती उत्सव में भाग लेने इस्कॉन मायापुर में आ रहे हैं. यह महोत्सव श्रीमद भागवत गीता के आविर्भाव के उपलक्ष्य में गीता कॉंम्प्लेक्स में आयोजित की जा रही है. 5000 वर्ष पूर्व श्री कृष्ण ने भागवत गीता के रूप में दिव्य ज्ञान अर्जुन को कुरुक्षेत्र की भूमि में प्रदान किये थे. यह उत्सव मुख्य रूप से भागवत गीता के संदेश को जनसाधारण के सभी वर्गों तक पहुचाने के लिए आयोजित किया जा रहा है. परमपूजनीया एसी भक्तिवेदांत स्वामी श्रीला प्रभुपाद  इस्कॉन के आचार्य एवं प्रतिष्ठता के अनुसार, भागवत गीता का संदेश केवल अध्यात्मिक ज्ञान ही नही बल्कि एक ऐसा विज्ञान है जो हर जीव को श्रवण करनी चाहिए क्योंकि इस से उसका एवं पूरे समाज का कल्याण होगा.

इस उत्सव के अंतर्गत श्री चैतन्य महाप्रभु के जन्मस्थली मायापुर में एक विशाल शोभा यात्रा निकाली जाएगी. विभिन्न वर्गो के लिए अलग-अलग सेमिनारों का आयोजन किया गया है,  जिसके मध्यम से लोगों को बताया जाएगा कि भागवत गीता की वाणी को अपने जीवन में अभ्यास करने से सरलता से हर कठिनायी पर विजय प्राप्त हो सकती है. यह भी चर्चा होगी कि वर्तमान दौर मे कैसे गीता के उपदेशों का पालन करना चहिए, कैसे पूरे मानव जाति को सुख की प्राप्ति होगी और एक खुशहाल समाज का गठन हो सकता है.

8 दिसम्बर को भागवत गीता के सारे 18 अध्याओं के 700 श्लोकों का पाठ किया जाएगा. ततपश्चात विश्व शांति के लिए यज्ञ और प्रार्थना की जाएगी. इस दौरान भक्तों के अलावा विभिंन क्षेत्रों के विशेषज्ञ भी भाग लेंगे. पांचों दिन शाम को सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन किया गया है. इस्कॉन मायापुर के भक्तों ने भागवत गीता के प्रचार को देश के कोने-कोने तक पहुचाने के लिए खूब मेहनत की है. इस वर्ष  गीता कोर्स में 400 छात्रों ने भाग लिया जिनको सम्मानित भी किया जायेगा.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus