20 जून 2019, गुरुवार | समय 09:17:36 Hrs
Republic Hindi Logo

लोकसभा चुनावः दार्जीलिंग की सीट है ममता बनर्जी की नाक की लड़ाई

By Republichindi desk | Publish Date: 4/15/2019 4:40:53 PM
लोकसभा चुनावः दार्जीलिंग की सीट है ममता बनर्जी की नाक की लड़ाई

कोलकाताः लोकसभा चुनाव 2019 में पश्चिम बंगाल की दार्जीलिंग सीट मुख्य मंत्री ममता बनर्जी के लिए नाक की लड़ाई बन गई है. मालूम हो कि तृणमूल कांग्रेस कभी इस सीट से जीत हासिल नहीं कर सकी. लेकिन  इस बार तृणमूल कांग्रेस यहां से किसी प्रकार जीत हासिल करना चाहती है. इसलिए ममता बनर्जी ने गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के विधायक अमर सिंह राई को उम्मीदवार बनाया है. 

राजनीतिक जानकारों के अनुसार 2014 के बाद यहां का समीकरण बदला है. कभी गोरखा जनमुक्ति मोर्चा के इशारे पर इलाके में किसी भी उम्मीदवार की किस्मत तय होती थी.लेकिन वर्तमान समय में गोरखा जनमुक्ति मोर्चा दो फाड़ हो गई है. मोर्चे का एक गुट भारतीय जनता पार्टी के साथ है तो विनय तमांग का दूसरा गुट तृणमूल के साथ है. बीजेपी के लिए इस बार चुनाव जीतने के लिए ऐड़ी चोटी एक करना पड़ रहा है.

सूत्रों के अनुसार गोरखा नेशनल लिबरेशन फ्रंट (जीएनएलएफ) ने बीजेपी को समर्थन देने का ऐलान किया है. तीन दशकों में यह पहली बार है कि यहां गोरखा लैंड की मांग पर नहीं बल्कि विकास के मुद्दे पर लड़ा जा रहा है. विमल गुरुंग के दल का दावा है कि अबकी बार यह साफ हो जाएगा कि पहाड़ियों में किसकी चलती है. मालूम को कि यहां गुरुंग की शीर्ष नेता है. विमल गुरुंग 2017 में हुए हिंसक आंदोलन के बाद से ही भूमिगत है.

बता दें कि बीजेपी उम्मीदवार एसएस आहलुवालिया पिछली बार इस सीट से जीतकर केंद्र में मंत्री बने थे, लेकिन 2017 में पहाड़ी में काफी दिनों तक चली हिंसा के दौरान इलाके से गायब रहने की वजह से लोगों की नाराजगी को देखते हुए, बीजेपी ने इस बार अहलुवालिया का पत्ता काट कर विमल गुरुंग और गोरखा लिबरेशन फ्रंट के समर्थन से राजू बिष्ट को अपना उम्मीदवार बनाया है. विमल तमांग की अगुवाई वाले मोर्चा ने तृणमूल कांग्रेस के उम्मीदवार अमर सिंह राई को समर्थन करने का एलान किया है. दोनों दलों के उम्मीदवार उसी गोरखा पार्टी से आते हैं.

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी इलाके में चुनावी प्रचार के दौरान स्थानीय बनाम बाहरी का मुद्दा उठा चुकी है. तृणमूल उम्मीदवार अमर सिंह इलाके के मोर्चा विधायक रह चुके हैं. कांग्रेस की ओर से वरिष्ठ नेता शंकर मालाकार मैदान में है. वहीं माकपा ने अपने पूर्व राज्यसभा सांसद सुमन पाठक को अपना उम्मीदवार बनाया है. सभी पार्टियों के उम्मीदवारों के चुनावी मैदान में कूदने के बाद दार्जीलिंग पूरी तरह चुनावी रंग में रंग गया है. हालांकि सभी पार्टी अपने-अपने उम्मीदवारों के जीत का दम भर रही है.अब देखना है कि 23 मई को जीत की ट्रॉफी किस पार्टी के हाथ लगती है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus