22 मई 2019, बुधवार | समय 16:13:25 Hrs
Republic Hindi Logo

मायावती के दलित और मुलायम के मुस्लिम मतों पर कांग्रेस की नजर

By Republichindi desk | Publish Date: 3/15/2019 1:00:55 PM
मायावती के दलित और मुलायम के मुस्लिम मतों पर कांग्रेस की नजर

रिपब्लिक डेस्क: बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती की कांग्रेस से दुश्मनी उनको यूपी में महंगी पड़नेवाली है. यूपी में एसपी-बीएसपी गठबंधन में कांग्रेस को जगह नहीं मिलने के बाद कांग्रेस बीएसपी और सपा के वोट बैंक में सेंध लगाने की योजना बना रही है. कांग्रेस ऐसे बीएसपी नेताओं की सूची तैयार कर रही है जो आगामी चुनावों के लिए टिकट न मिलने से मायावती से नाराज हैं. कांग्रेस उनको पार्टी में शामिल कर टिकट देने की योजना बना रही है. इसी तरह कांग्रेस ने अल्पसंख्यकों के मतों को भी अपने पाले में करने की विशेष योजना बनायी है.

तीन राज्यों के विधानसभा चुनाव में कांग्रेस को बीएसपी से ज्यादा दलित वोट मिले थे. यूपी में भी कांग्रेस बीएसपी के कोर वोट बैंक जाटव में सेंध लगाने की कोशिश कर रही है. नगीना लोकसभा सीट जहां जाटव अच्छी संख्या में है, कांग्रेस ने वहां से ओमवती को टिकट दिया है जो मजबूत जाटव उम्मीदवार हैं. दलित वोट बैंक पर अपनी दावेदारी मजबूत करने के लिए कांग्रेस की महासचिव और पूर्वी यूपी की प्रभारी प्रियंका गांधी ने भीम सेना के मुखिया चंद्रशेखर आजाद से मेरठ के अस्पताल में मुलाकात की.

यूपी कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि सिर्फ मायावती ही नहीं हैं जो दलित वोट पा सके. हम दलितों को अपने पक्ष में लाने के लिए भरसक प्रयास करेंगे. मध्य प्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस ने दलितों का अधिकांश मत पाया है. अब कांग्रेस ऐसे बीएसपी नेताओं के बारे में सूचनाएं एकत्र कर रही है जो आगामी चुनावों के लिए टिकट न मिलने के चलते पार्टी से नाराज हैं. कांग्रेस उन्हें खुद में शामिल करने की योजना बना रही है.

बीएसपी की कमर तोड़ेगी कांग्रेस

कांग्रेस उम्मीदवारों की पहली सूची में ही इस बात के स्पष्ट संदेश मिल गए थे कि वह बीएसपी को ज्यादा से ज्यादा नुकसान पहुंचाने की फिराक में है. कांग्रेस ने इस बार उन उम्मीदवारों को टिकट दिया है जो पिछली बार बीएसपी के टिकट से लड़ चुके हैं. इसमें सीतापुर से कैसर जहां और जालौन से बृज लाल खबरी शामिल हैं. दोनों ने 2014 में बीएसपी से टिकट से चुनाव लड़ा था और हाल ही में कांग्रेस में शमिल हुए. आगरा से कांग्रेस ने कुंवर चंद वकील को टिकट दिया जो 2009 में बीएसपी के टिकट से चुनाव लड़ चुके हैं.

बीएसपी नेता कांग्रेस में शामिल 

हाल ही में कई बीएसपी नेता कांग्रेस में शामिल हुए हैं. बीएसपी नेता अजय श्रीवास्तव और फौजदार प्रसाद ने भी लखनऊ में कांग्रेस जॉइन की. अजय श्रीवास्तव ने 2017 विधानसभा चुनाव में बीएसपी के टिकट से लखनऊ उत्तरी सीट से चुनाव लड़ा था. वहीं फौजदार प्रसाद 1991 में लालगंज से बीएसपी के लोकसभा उम्मीदवार थे. मेरठ में बीएसपी हाजी याकूब कुरैशी को टिकट देने जा रही है. इससे मेरठ के पूर्व सांसद शाहिद अखलाक काफी नाराज हैं जिन्होंने 2014 में बीएसपी के टिकट से चुनाव लड़ा था. सूत्रों के मुताबिक शाहिद ने बुधवार को दिल्ली में कांग्रेस के पश्चिमी यूपी के प्रभारी ज्योतिरादित्य सिंधिया से मुलाकात की. यह भी कहा जा रहा है कि वह कुरैशी को चुनौती देने के लिए कांग्रेस में शामिल होने वाले हैं.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus