17 जनवरी 2019, गुरुवार | समय 20:59:16 Hrs
Republic Hindi Logo

क्षेत्र में काम करना है तो चोरी करनी ही पड़ेगी:बीजेपी सांसद

By Republichindi desk | Publish Date: 1/7/2019 12:59:53 PM
क्षेत्र में काम करना है तो चोरी करनी ही पड़ेगी:बीजेपी सांसद

उत्तर प्रदेशः न खाऊंगा और न खाने दूंगा का नारा देनेवाले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पार्टी के सांसद उनके विपरीत चल रहे हैं. बस्ती से सांसद हरीश द्विवेदी का कहना है कि वेतन से कोई सांसद,मंत्री अपना चुनाव क्षेत्र नहीं चला सकता. अगर चुनाव क्षेत्र में कुछ करना है तो फिर चोरी तो करनी ही पड़ेगी. एक सांसद को अपना काम ठीक से करने के लिए कम से कम बारह कर्मचारियों की आवश्यकता है,लेकिन वेतन वरिष्ठ प्राइमरी के अध्यापक से भी कम है तो चोरी तो करनी ही पड़ेगी.

उन्होंने पार्टी के बड़े नेताओं से इस विषय पर चर्चा भी करने की बात कही है.इसके साथ ही साथ ही उन्होंने केजरीवाल सरकार के विधानसभा में भत्ते बढ़ाने की प्रशंसा भी की.हालांकि बस्ती के सांसद हरीश द्विवेदी का विवादों के पुराना नाता रहा है. सांसद हरीश द्विवेदी से जब एक युवक ने कहा कि क्षेत्र में आप बेहतर काम कैसे करेंगे तो उन्होंने उसको दो-टूक जवाब दिया.

सांसद ने कहा कि आप हमारे यहां आएंगे कहेगें कि सांसद जी पत्र लिख दीजिए,अगर हम कहें कि जाकर टाइप करवा लीजिए तो आप क्या कहेगें? तो हमें टाइपिस्ट रखने की जरूरत है,पानी पिलाने वाला, खाना बनाने वाला सब रखना है.उन्होंने कहा कि अगर आप चाहते हैं कि कोई सांसद,विधायक, मंत्री चोरी न करे तो उसकी सुविधाएं बढ़ाइए.आप हमारी भी तो मजबूरी समझिए.सिर्फ आपकी ही मजबूरी नहीं है. इस मौके पर उनके साथ जिलाधिकारी राजशेखर और सदर विधानसभा सीट के विधायक दयाराम चौधरी भी मौजूद थे.

उन्होंने पीएम नरेंद्र मोदी से सांसदों का वेतन बढ़ाने की मांग है.उन्होंने कहा है कि अगर राजनीतिक व्यक्तियों की चोरी रोकनी है तो उनका वेतन बढ़ाया जाना चाहिए. आज एक सांसद से ज्यादा वेतन एक प्राइमरी स्कूल के शिक्षक का है.ऐसे में विधायकों,सांसदों और मंत्रियों का वेतन और सुविधाएं बढ़ाई जाएं.

बता दें कि एक सांसद को हर महीने 50 हजार रुपये सैलरी मिलने के अलावा कई अन्य तरह के भत्ते भी मिलते हैं.इन भत्तों में 45000 रुपये संसदीय क्षेत्र भत्ता, 45000 रुपये कार्यालय भत्ता मिलता है. यहीं नहीं संसद सत्र के दौरान सदन का अलग भत्ता मिलता है.कुल खर्चे की बात करें तो सांसद पर हर महीने लगभग 2.70 लाख रुपये खर्च होते हैं. इसके बावजूद अगर कोई चोरी की बात करे विवाद होना लाजमी है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus