16 दिसम्बर 2019, सोमवार | समय 15:07:46 Hrs
Republic Hindi Logo

शिवसेना ने कसा तंज ईडी का एक प्रतिनिधि को शामिल करना होगा मंत्रिमंडल में

By Republichindi desk | Publish Date: 11/3/2019 11:23:35 AM
शिवसेना ने कसा तंज ईडी का एक प्रतिनिधि को शामिल करना होगा मंत्रिमंडल में

न्यूज डेस्क. शिवसेना अपने रुख पर कायम है और बीजेपी पर लगातार निशाना साधने से बाज नही आ रही है. शिवसेना ने कहा है कि ईडी का एक प्रतिनिधि को मंत्रिमंडल में शामिल करना होगा. दरअसल, नई सरकार के गठन में सीएम पद को लेकर जारी खींचतान पर शिवसेना ने अपने मुखपत्र सामना में बीजेपी पर फिर एक बार गंभीर आरोप लगाए हैं. शिवसेना ने लिखा कि बीजेपी को ईडी, पुलिस, पैसा, धाक के दम पर अन्य पार्टियों के विधायक तोड़कर सरकार बनानी पड़ेगी.

 
शिवसेना ने सामना में लिखा, महाराष्ट्र का चुनाव परिणाम स्पष्ट है. भाजपा को 105 सीटें मिलीं. शिवसेना साथ नहीं होती तो यह आंकड़ा 75 के पार नहीं गया होता. युति थी इसलिए गति मिली. युति थी तब इसे कितनी सीटें मिली इसकी बजाय चुनाव से पहले युति करते समय क्या करार हुआ था, वो महत्वपूर्ण है. शिवसेना को 56 सीटें मिलीं लेकिन फडणवीस पहले निर्धारित शर्तों के अनुरूप शिवसेना को ढाई साल मुख्यमंत्री पद देने को तैयार नहीं हैं. देवेंद्र फडणवीस पलटी मारते हैं और पुलिस, सीबीआई, ईडी, आयकर विभाग की मदद से सरकार बनाने के लिए हाथ की सफाई दिखा रहे हैं. ये लोकतंत्र का कौन सा उदाहरण है. इंदिरा गांधी ने आपातकाल लगाया उस दिन को काला दिन कहकर संबोधित करने वाले ऐसे क्यों बन गए हैं. इस पर हैरानी होती है. 
 
सामना में लिखा है, 24 तारीख को चुनाव परिणाम घोषित होने के बाद उसी दिन मुख्यमंत्री फडणवीस को बड़े अभिमान से मातोश्री में जाकर पहले चर्चा शुरू करनी चाहिए थी. वातावरण तनावपूर्ण नहीं हुआ होता लेकिन 105 कमलों का हार मतलब अमरपट्टा कौन इसे छीनेगा ? वर्ष 2014 की तरह शिवसेना तमाम शर्तें मान लेगी, सभी इस भ्रम में रहे. इस भ्रम को उद्धव ठाकरे ने पहले 8 घंटों में दूर कर दिया. वर्ष 2014 में शिवसेना सत्ता में शामिल हुई. अब शिवसेना वो जल्दबाजी नहीं दिखाएगी तथा घुटने टेकने नहीं जाएगी, ऐसी नीति उन्होंने अपनाई तथा व्यर्थ चर्चा का दरवाजा बंद कर दिया.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus