22 जुलाई 2019, सोमवार | समय 23:46:16 Hrs
Republic Hindi Logo

कांग्रेस में भगदड़ रोकने आयेंगे गैर गांधी नये अध्यक्ष

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 6/7/2019 7:02:09 PM
कांग्रेस में भगदड़ रोकने आयेंगे गैर गांधी नये अध्यक्ष

रिपब्लिक डेस्क: मध्यप्रदेश, राजस्थान, तेलंगाना, महाराष्ट्र और कर्नाटक सहित कई राज्यों में कांग्रेस गुटबाजी से जर्जर हो गयी है. पार्टी के वरिष्ठ नेता कांग्रेस छोड़ कर दूसरी पार्टियों में पलायन कर रहे हैं. कांग्रेस में गुटबाजी के कारण मध्यप्रदेश और राजस्थान में कांग्रेस की सरकारों पर संकट मंडरा रहा है. लोकसभा चुनाव में कांग्रेस की हार की जिम्मेदारी लेते हुए राहुल गांधी ने अध्यक्ष पद छोड़ने का निश्चय कर लिया है. कांग्रेस सूत्रों का मानना है कि अगले दो महीनों में पार्टी को नया अध्यक्ष मिल जायेगा जो गांधी परिवार का नहीं होगा.

राहुल गांधी के कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा वापस लेने से इनकार करने के बाद से ही पार्टी के नए अध्यक्ष की तलाश शुरू है. राहुल गांधी ने स्पष्ट तौर पर कहा है कि प्रियंका गांधी या गांधी परिवार का नाम अध्यक्ष के लिए प्रस्तावित नहीं किया जायेगा. राहुल गांधी ने पिछली कार्यसमिति की बैठक में कहा था कि प्रियंका गांधी का नाम अध्यक्ष के लिए नहीं लिया जाये. यूपीए की चेयरपर्सन सोनिया गांधी अपने स्वास्थ्य को लेकर पार्टी में अपनी सक्रियता कम कर चुकी हैं. ऐसे में कांग्रेस का अगला अध्यक्ष गैर गांधी होगा और अगले दो महीने में नया अध्यक्ष चुन लिया जाएगा.

सूत्रों के अनुसार कांग्रेस में वैसे नामों पर विचार किया जा रहा है जिसपर गांधी परिवार की भी मूक सहमति हो और वह बाकी कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं को भी स्वीकार्य हो. इधर पूर्व हॉकी खिलाड़ी असलम खान ने अध्यक्ष बनने की इच्छा जतायी है. पूर्व हॉकी खिलाड़ी ने कहा है कि वह कांग्रेस अध्यक्ष बनने को तैयार हैं. गौरतलब है कि असलम शेरखान केंद्रीय मंत्री रह चुके हैं और ओलंपिक में भारतीय हॉकी टीम का प्रतिनिधित्व कर चुके हैं. उन्हों ने कहा, कांग्रेस ने जब चुनाव में हार का सामना किया, उसके बाद मैंने पत्र लिखा था. जब राहुल गांधी ने कहा कि वह कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्ती्फा देना चाहते हैं और मानते हैं कि उनके परिवार से बाहर का कोई व्यक्ति कांग्रेस अध्यक्ष बने, तो मैंने माना कि ये एक अवसर है.

असलम शेर खान ने राहुल गांधी को पत्र भी लिखा है कि अगर आप नेहरू गांधी परिवार से बाहर किसी को ये जिम्मेदारी देना चाहते हैं तो मुझे दीजिए. मुझे ये जिम्मेदारी दो साल के लिए दीजिए. ये समय है जब कांग्रेस को एक बार फिर से राष्ट्रदवाद से जोड़ने की जरूरत है.

कई जानकारों का मानना है कि कांग्रेस का अगला अध्यक्ष महाराष्ट्र से बनाया जा सकता है. यह संभव है, क्योंकि वहां विधानसभा चुनाव होना है और एक महाराष्ट्रियन अध्यक्ष पार्टी के लिए अच्छा होगा. सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी ने कहा कि मैं संसद में जिम्मेदारी लेने को तैयार हूं, लेकिन पार्टी एक महीने के भीतर नया अध्यक्ष चुन ले. कांग्रेस के पास अभी कोई अध्यक्ष नहीं है इस वजह से कई राज्यों में पार्टी अनुशासनहीनता की तरफ बढ़ती जा रही है और अब दिल्ली में बैठे कांग्रेस के बड़े नेताओं को लगता है कि अध्यक्ष पद को लेकर जो भ्रम के स्थिति पैदा हो गई है उसे जल्दी खत्म करना ही पार्टी हित में अच्छा होगा. गौरतलब है कि कांग्रेस कार्य समिति ( सीडब्ल्यूसी) ने प्रस्ताव पारित कर राहुल गांधी को पार्टी में आमूलचूल बदलाव के लिए अधिकृत किया है.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus