17 जुलाई 2019, बुधवार | समय 12:45:31 Hrs
Republic Hindi Logo

विपक्षी स्वार्थ के लिए इकट्ठा हो रहे हैंःअमित शाह

By Republichindi desk | Publish Date: 1/11/2019 6:03:59 PM
विपक्षी स्वार्थ के लिए इकट्ठा हो रहे हैंःअमित शाह

नई दिल्ली: बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने दिल्ली के राम लीला मैदान में एक सभा को संबोधित करते हुए कहा कि 2019 का लोकसभा चुनाव दो विचारधाराओं के बीच है.मोदी जी के नेतृत्व में 35 दल एक साथ खड़े हैं, दूसरी तरफ वे लोग हैं, जिनका कोई नेता तक नहीं है. स्वार्थ के लिए इकट्ठा हुए हैं. शाह ने कहा कि 2019 का 'युद्ध' सदियों तक असर छोड़ने वाला है.उन्होंने कहा कि हमारे पास 16 राज्यों की सरकारों की ताकत है और इसके साथ चुनाव मैदान में जा रहे हैं.

उन्होंने कहा कि 5 साल के अंदर देश का विकास और गौरव दोगुनी रफ्तार से बढ़ा है. 2019 में हमारी विजय निश्चित है.देश की जनता मोदी जी के पीछे चट्टान की तरह खड़ी है. मोदी जी जैसा लोकप्रिय नेता विश्व में किसी दल के पास नहीं है.शुक्रवार को बीजेपी की ओर राष्ट्रीय परिषद की बैठक आयोजित की गयी थी.वे यहां बतौर मुख्य अतिथि के रुप में उपस्थित थे.

अमित शाह ने भाषण शुरु करने से पहले पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी जी को याद करते हुए कहा कि जनसंघ और बीजेपी को राजनीतिक पहचान देने में अटल जी का बड़ा योगदान है.आज जब वे हमारे बीच नहीं हैं, उनका स्थान रिक्त महसूस होता लेकिन कारवां रुकेगा नहीं.उनके बताए रास्ते पर चलते रहेंगे. हम 2019 के चुनाव मैदान में जाने के लिए तैयार हैं.ये चुनाव बीजेपी के लिए तो महत्वपूर्ण है, साथ ही भारत के लिए भी उतना ही महत्वपूर्ण है. मोदी जी के नेतृत्व में भारत की विकास यात्रा और गौरव यात्रा जारी रहेगी.एनडीए की पूर्ण बहुमत के साथ सरकार बनने जा रही है.

यूपी में 73 से 74 सीट होने की संभावना 

अमित शाह ने सपा-बसपा गठबंधन पर तंज कसते हुए कहा कि 'कभी एक दूसरे का मुंह न देखने वाले आज हाथ मिलाकर टहल रहे हैं, क्योंकि उन्हें पता है कि मोदी जी को हराना मुश्किल है'. उन्होंने कहा कि यूपी में 73 से 74 होने की संभावना है, लेकिन 72 नहीं होगा. लोकसभा चुनाव 2019 के लिए अमित शाह ने अबकी बार फिर मोदी सरकार बीजेपी का नया नारा दिया.

उन्होंने बीजेपी के कार्यों को बताते हुए कहा कि 2014 तक देश की सुरक्षा का कोई ठौर-ठिकाना नहीं था. इस स्थिति में नरेंद्र मोदी पीएम बने. सबसे पहला काम हमने जवानों को वन रैंक वन पेंशन देने का काम किया. जवानों के परिवारों का सम्मान किया. पहले गोलियां चलाने के लिए दिल्ली पूछना पड़ता था.हमने कहा,गोली का जवाब गोले से दिया जाए.पीछे नहीं हटना है. 70 साल से देश ऐसी सरकार चाहता था.नक्सलवाद और माओवाद खत्म होने की कगार पर है. पाकिस्तान के अंदर घुसके जवानों की हत्या का बदला बदला लिया.

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कहा कि मैं राहुल गांधी एंड कंपनी से पूछना चाहता हूं कि वे अपना रुख स्पष्ट करें कि देश में घुसपैठिये रहें या नहीं. यह हमारे लिए वोट बैंक का मुद्दा नहीं है,बल्कि देश की सुरक्षा का मुद्दा है. चुनाव जीतने के लिए सुरक्षा से खिलवाड़ नहीं कर सकते हैं.उन्होंने कहा कि आज पूरी दुनिया में हमारा डंका बज रहा है. एक के बाद एक गौरव के पल बीजेपी के नेतृत्व में आ रहे हैं और आगे और भी ऐसे पल सामने आएंगे.5 साल तक मोदी जी ने भ्रष्टाचार पर नकेल कसने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ी.नोटबंदी भी की.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus