16 दिसम्बर 2019, सोमवार | समय 03:16:33 Hrs
Republic Hindi Logo

जब पायलट के बजाय यात्री को उड़ानी पड़ी प्लेन

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 12/2/2019 10:55:54 AM
जब पायलट के बजाय यात्री को उड़ानी पड़ी प्लेन

रिपब्लिक हिंदी डेस्क: पायलट ने हाथ खड़े कर लिये तो एक यात्री को ही प्लेन उड़ानी पड़ गयी. यह घटना भारत के पुणे में शनिवार को हुई. हुआ यूं कि पुणे से दिल्ली आ रही इंडिगो की फ्लाइट को लो धूंध के कारण विपरीत परिस्थितियों का सामना करना पड़ा. दिल्ली में कोहरा के कारण पायलट को विमान उड़ाने में कठिनाई आन पड़ी. जब उसे विमान उड़ाने में परफेक्ट नहीं पाया गया तो एयरलाइंस ने विमान में ही बैठे एक कैप्टन से फ्लाइट को उड़ाने के अनुरोध किया, फिर तो यात्रियों को एक अन्य यात्री ही उड़ा कर गंतव्य तक ले गया.

मीडिया के अनुसार इंडिगो की फ्लाइट 6ई-6571 शनिवार को पुणे से दिल्ली आ रही थी. इसी दौरान केबिन क्रू को दिल्ली में घने कोहरे और लो विजिबिलिटी की सूचना मिली. विमान में सभी यात्री बैठ चुके थे. इन परिस्थितियों में कैट-थ्री बी द्वारा ट्रेंड विशेष पायलट की आवश्यकता महसूस हुई थी. बताया गया कि दिल्ली एयरपोर्ट पर विमान उड़ाने के लिए बेहद कम दृश्यता की स्थिति है और इन परिस्थितियों में कैट-3बी का प्रशिक्षण ले चुके पायलट को ही विमान उड़ाना चाहिए. लेकिन फ्लाइट के एक पायलट के पास यह प्रशिक्षण नहीं था.

सूत्रों का कहना है कि इसी फ्लाइट से इंडिगो के एक अन्य कैप्टन अपनी ड्यूटी खत्म होने के बाद दिल्ली में अपने घर लौट रहे थे. इन कैप्टन के पास कैट-3बी प्रशिक्षण और कोहरे में विमान उड़ाने का पर्याप्त अनुभव था. इस कारण यात्रियों को असुविधा से बचाने के लिए एयरलाइंस प्रबंधन ने इस यात्री पायलट से ही विमान उड़ाने का आग्रह किया. इसक बाद ही विमान उड़ान भरकर दिल्ली पहुंच पाया. एयरलाइंस की तरफ से इस बारे में कोई अधिकृत बयान जारी नहीं किया गया है.

सूत्रों के मुताबिक, यात्री पायलट को सीधे कॉकपिट में प्रवेश नहीं दिया गया बल्कि उन्हें पहले ब्रीथ एनेलाइजर समेत उन सभी अनिवार्य टेस्ट से गुजरना पड़ा, जो विमान उड़ाने से पहले पायलट को देने पड़ते हैं. इसके अलावा विमान का कैप्टन बदलने के लिए सभी तरह की आंतरिक मंजूरियां भी ली गईं और उनका नाम रोस्टर में भी शामिल कराया गया. नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (डीजीसीए) को भी हालात की जानकारी दी गई. हालांकि यात्री कैप्टन को बिना यूनिफार्म के ही कॉकपिट में प्रवेश करना पड़ा. माना जा रहा है कि इसके लिए डीजीसीए एयरलाइंस पर जुर्माना लगा सकता है.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus