25 मार्च 2019, सोमवार | समय 11:01:54 Hrs
Republic Hindi Logo

मोकामा भारत वैगन में ट्रेन कोच के मरम्मत वर्कशॉप का प्रस्ताव, पूमरे ने रेलवे बोर्ड को दिया प्रस्ताव

By Republichindi desk | Publish Date: 3/6/2019 7:06:37 AM
मोकामा भारत वैगन में ट्रेन कोच के मरम्मत वर्कशॉप का प्रस्ताव, पूमरे ने रेलवे बोर्ड को दिया प्रस्ताव
पटना: मोकामा की बंद पड़ी भारत वैगन कंपनी में ट्रेनों की बोगियों के मरम्मत वर्कशॉप खोला जा सकता है. पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक ने मरम्मत वर्कशॉप के प्रस्ताव को रेलवे बोर्ड भेज दिया है. रेलवे बोर्ड को इस मामले में निर्णय लेना है. पूर्व मध्य रेल के महाप्रबंधक द्वारा रेलवे बोर्ड को औपचारिक प्रस्ताव 20 दिन पहले भेजा गया है. भाजपा नेता डॉ रामसागर सिंह ने भी बोर्ड को भेजे गए प्रस्ताव के आलोक में रेल मंत्री पीयूष गोयल से मुलाकात कर इस प्रस्ताव को औपचारिक तौर पर सहमति दिलाने और कारखाना खुलवाने की मांग की है. 
 
एलएचबी और आईसीएफ़ कोचों के मरम्मत वर्कशॉप का है प्रस्ताव
 
दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार रेलवे के महाप्रबंधक एलसी त्रिवेदी ने बीते 14 फरवरी को रेलवे बोर्ड को एक प्रस्ताव भेजा है। प्रस्ताव में कहा गया है कि मोकामा में एलएचबी और आईसीएफ़ दोनों प्रकार के कोचों की मरम्मत का वर्कशॉप खोला जा सकता है। बोर्ड की दलील है रेल कारखाना से हर महीने 40 से 50 बोगियों की मरम्मत और रखरखाव हो सकता है जबकि पूर्व मध्य रेल को हर महीने कम से कम 180 ट्रेनों की मरम्मत करानी पड़ती है। पूर्व मध्य रेल को अपनी ट्रेनों के रखरखाव के लिए लिलुआ भेजना पड़ता है। हावड़ा के लिलुआ भेजने में समय की बर्बादी भी होती है और काफी समय भी लगता है। दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार हरनौत रेल कारखाने में आईसीएफ गैर वातानुकूलित बोगियों की मरम्मत और रखरखाव होती है। ईसीआर को ऐसे कारखानों की जरूरत है जहां आईसीएफ और एलएचबी दोनों प्रकार के कोचों के एसी और नॉन एसी बोगियों की मरम्मत और रखरखाव हो सके।
 
मोकामा में जगह भी पर्याप्त, लोकेशन भी बढ़िया
 
पूर्व मध्य रेलवे की दलील है कि मोकामा में जगह भी पर्याप्त उपलब्ध है और यह लोकेशन भी काफी अच्छी है। मोकामा में आईसीएफ और एलएचबी दोनों प्रकार के कोचों के एसी और नॉन एसी बोगियों की मरम्मत का वर्कशॉप खोला जा सकता है। पूर्व मध्य रेलवे की दलील है कि मोकामा दानापुर मुख्यालय से महज 90 किलोमीटर दूर है और यह तमाम बुनियादी सुविधाएं भी उपलब्ध है। दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार पूर्व मध्य रेलवे ने बोर्ड को भेजे प्रस्ताव में यह भी बताया है कि मोकामा में वर्कशॉप परिसर में 39 एकड़ जमीन उपलब्ध है तथा आवासीय परिसर के लिए अलग से लगभग 10 एकड़ जमीन उपलब्ध है। हरनौत रेल कारखाने को पूर्व मध्य रेलवे की मांग को पूरा करने में सक्षम नहीं पाया जा रहा है। लिहाजा मोकामा में जगह भी पर्याप्त उपलब्ध है और यहां पर कारखाना वर्कशॉप का सभी ढांचा भी उपलब्ध है।
 
भारी उद्योग मंत्रालय से हुआ था रेलवे में अधिग्रहण
 
दरअसल मोकामा की भारत वैगन कंपनी भारत भारी उद्योग निगम के तहत संचालित थी। यूपीए 1 के दौरान रेल मंत्री लालू प्रसाद यादव ने इसका रेलवे में अधिग्रहण कराया था। अधिग्रहण की तमाम आवश्यक शर्तें पूरी नहीं हो पाई थी। लिहाजा यह कंपनी रूग्ण इकाई के तौर पर आर्थिक पैकेज के सहारे कुछ सालों तक चली। बाद में केंद्र सरकार के आर्थिक मामलों की कैबिनेट समिति ने इसे बंद करने का फैसला कर लिया। अब वहां नए सिरे से ट्रेनों के कोचों की मरम्मत का वर्कशॉप खोले जाने की बात चल रही है। रेल राज्यमंत्री मनोज सिन्हा खुद इसमें दिलचस्पी ले रहे थे। भाजपा नेता डॉ रामसागर सिंह लगातार दानापुर से दिल्ली तक इस मसले को उठाते रहे। सांसद वीणा देवी, पूर्व सांसद सूरजभान सिंह, जदयू नेता ललन सिंह, लोजपा नेता कन्हैया सिंह भी हर मौके पर भारत वैगन कंपनी का मसला उठाते रहे।
 
एलएचबी और आईसीएफ बोगियों के लिए पीओएच और आईओएच सुविधाएं देने का प्रस्ताव
 
दैनिक भास्कर की खबर के अनुसार दानापुर रेल मंडल और पूर्व मध्य रेल द्वारा भेजे गए प्रस्ताव में मोकामा भारत वैगन में वर्कशॉप चालू करने के प्रस्ताव में एलएचबी और आईसीएफ बोगियों के लिए पीओएच और आईओएच सुविधाएं देने की बात कही गई है। एलएचबी कोच को लिंक हॉफमेन बुश कोच कहा जाता है। ये जर्मन तकनीक से बनी हैं । आईसीएफ कोच इंटीग्रल कोच फैक्टरी कोच को कहा जाता है। अब आईसीएफ़ कोच की जगह पर एलएचबी कोच का इस्तेमाल ज्यादा हो रहा है। रेवले में पीओएच का तात्पर्य पिरियोडिक ओवरहौलिंग से है यानी एक निश्चित समय पर रखरखाव। हर डेढ़ साल पर कोच की पिरियोडिक ओवरहौलिंग होती है। आईओएच का तात्पर्य इंटरमीडियट ओवरहौलिंग से है जो नियमित होता है। मोकामा में दोनों प्रका रके कोच एलएचबी और आईसीएफ़ के लिए पीओएच और आईओएच सुविधाएं देने का प्रस्ताव है। 
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus