26 मार्च 2019, मंगलवार | समय 04:33:28 Hrs
Republic Hindi Logo

नौ महीने भी नही रहेगा जींद का नया विधायक

By Republichindi desk | Publish Date: 1/10/2019 5:03:36 PM
नौ महीने भी नही रहेगा जींद का नया विधायक

न्यूज़ डेस्क. हरियाणा विधानसभा का मौजूदा कार्यकाल 25 अक्टूबर'19 तक है और 28 जनवरी को जींद विधानसभा का उपचुनाव होगा. ऐसे में नवनिर्वाचित विधायक का कार्यकाल 9 महीने का भी नही होगा. गौरतलब है कि जींद विधानसभा 2014 के चुनाव में इनेलो के डॉ हरिचंद मिड्ढा ने चुनाव जीता था. डॉ मिड्ढा का लंबी बीमारी के चलते 26 अगस्त को निधन हो गया था. तब से यहां उपचुनाव कराने की मांग उठ रही थी और मामला कोर्ट भी गया.

जींद उपचुनाव में नामांकन पत्र दाखिल करने के आखिरी दिन जो तस्वीर उभर कर सामने आई है. उसके बाद जींद सीट का उपचुनाव बेहद दिलचस्‍प हो गया है. बीजेपी ने इनेलो के पूर्व विधायक डॉ हरिचंद मिड्ढा के पुत्र कृष्‍ण मिड्ढा को अपना प्रत्‍याशी बनाया है तो कांग्रेस ने अपने कद्दावर नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला काे ही उपचुनाव में उतार दिया है. इनेलो ने उमेद रेढू को अपना उम्‍मीदवार बनाया है तो जननायक जनता पार्टी के सांसद दुष्‍यंत चौटाला ने छोटे भाई दिग्विजय चौटाला को अपना प्रत्‍याशी बनाया है.

यह भी देखें- 

बीजेपी ने नवंबर'18 में इनेलो में ही सेंधमारी कर हरिचंद मिड्ढा के बेटे कृष्ण मिड्ढा को बीजेपी में शामिल कर पहले ही उनकी उम्मीदवारी के संकेत दे दिए थे. दरअसल, जींद विधानसभा सीट 2014 में सिर्फ 1.86% वोट के अंतर से बीजेपी हारी थी. 2009 में भी इनेलो नेता हरिचंद मिड्ढा ने 36.40% वोट लेकर हराया था जबकि 2014 में मिड्ढा ने इनेलो से ही बीजेपी में गए सुरेंद्र बरवाला को 1.86% यानी 2257 वोट से हराया था. डॉ हरिचंद मिड्ढा को 25.99% वोट मिला था.

जींद विधानसभा में 12 बार हुए चुनाव में 5 बार कांग्रेस, 4 बार लोकदल व इनेलो के विधायक बने. इसके अलावा हरियाणा विकास पार्टी, एनसीओ के एक-एक बार व एक बार निर्दलीय विधायक बने हैं. इस सीट को कांग्रेस नेता मांगेराम गुप्ता के नाम से भी जाना जाता है. वे यहां से 4 बार जीते व 4 बार हारे.

यह भी देखें- 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus