19 दिसम्बर 2018, बुधवार | समय 15:53:24 Hrs
Republic Hindi Logo

सीमा सुरक्षा बल का आज है स्थापना दिवस, बधाइयों का सिलसिला जारी

By Republichindi desk | Publish Date: 12/1/2018 10:04:44 AM
सीमा सुरक्षा बल का आज है स्थापना दिवस, बधाइयों का सिलसिला जारी

पटना: राष्ट्रीय सुरक्षा को पूरी तरह समर्पित सीमा सुरक्षा बल का आज स्थापना दिवस है. इंडियाज फर्स्ट लाइन आफ डिफेंस के तौर पर चर्चित बीएसएफ के स्थापना दिवस पर बधाइयां देने का सिलसिला जारी है. कई वरिष्ठ नेताओं और सेलिब्रिटीज ने बीएसएफ को स्थापना दिवस की बधाई दी है.


सबसे बड़ा सीमा रक्षक बल है बीएसएफ

सीमा सुरक्षा बल देश का एक प्रमुख अर्धसैनिक बल तो है ही साथ विश्व का सबसे बड़ा सीमा रक्षक बल है. 1 दिसंबर 1965 को गठित यह बल देश के सीमाओं की रखवाली करने के मामले में विश्व का सबसे बड़ा बल है. भारत के अंतरराष्ट्रीय सीमाओं की निरंतर निगरानी करना, सीमा की रक्षा तथा सीमा के जरिए होने वाले अपराध को रोकना बीएसएफ की जिम्मेवारी है. घने जंगलों, पहाड़, नदी, घाटियों में बीएसएफ जवानों की तैनाती की गई है और हर मुश्किल परिस्थितियों के बावजूद बीएसएफ के जवान अपने सर्वोच्च समर्पण के साथ देश की सेवा कर रहे हैं.


भारत पाकिस्तान युद्ध के बाद हुआ था गठन

सीमा सुरक्षा बल का गठन 1965 के भारत-पाकिस्तान युद्ध के बाद हुआ था. उस समय तक सीमा की सुरक्षा की जिम्मेवारी संबंधित राज्य पुलिस की थी लेकिन भारत-पाक युद्ध के बाद केंद्र सरकार ने एक केंद्रीय एजेंसी के गठन का फैसला किया, जिसकी जिम्मेवारी सिर्फ सीमाओं की रक्षा की थी. इसी के बाद बीएसएफ का गठन किया गया. 1 दिसंबर 1965 को अस्तित्व में आया था और के एफ रूस्तमजी बीएसएफ के पहले महानिदेशक थे. बीएसएफ का दायरा लगातार बढ़ता जा रहा है. सीमाओं की सुरक्षा के अलावा देश की आंतरिक समस्याओं से निबटने में भी इस बल का इस्तेमाल होते रहा है. नक्सल विरोधी अभियानों में भी बीएसएफ का इस्तेमाल किया जा रहा है. छत्तीसगढ़ के कई जिलों में बीएसएफ के जवान बहादुरी से नक्सलियों का मुकाबला कर रहे हैं.


निरंतर बढ़ती जा रही है बीएसएफ की ताकत

विश्व के सबसे बड़े सीमा सुरक्षा बल के तौर पर चर्चित भारत के डिफेंस की फर्स्ट लाइन बीएसएफ की ताकत लगातार बढ़ती जा रही है. आज इस समय बीएसएफ की 188 बटालियन हैं. 6,385 किलोमीटर लंबी अंतर्राष्ट्रीय सीमा की सुरक्षा की जिम्मेवारी भी सीमा सुरक्षा बल के पास है. बीएसएफ के जवान अपने कर्तव्य समर्पण के अलावा हुनर के लिए भी जाने जाते हैं. वाघा बॉर्डर पर बीएसएफ के जवानों का कला कौशल देखते ही बनता है. इसके अलावा राजपथ पर परेड में भी बीएसएफ के जवान अपने हुनर का प्रदर्शन कर चुके हैं.


बीएसएफ को मिल रही बधाइयां

बीएसएफ के 54 वें स्थापना दिवस पर कई लोगों ने बधाइयां दी हैं. गृह राज्यमंत्री किरण रिजिजू, देश के उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, महानायक अमिताभ बच्चन, गृह राज्यमंत्री हंसराज अहिर, शूटर हीना सिद्धू, रक्षा राज्य मंत्री डॉक्टर सुभाष भामरे, झारखंड के मुख्यमंत्री रघुवर दास, आरपीएफ के डीजी अरुण कुमार ने ट्विटर पर बीएसएफ को बधाइयां दी है. महानायक अमिताभ बच्चन ने ट्विटर पर लिखा है- बॉर्डर सुरक्षा बल दिवस पर उन सभी वीर जवानों को, जो हमारी सुरक्षा के लिए सदा तैनात रहते हैं, कोटि-कोटि प्रणाम, अभिनंदन और संपूर्ण देश की शुभकामनाएं. उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने भी बीएसएफ जवानों की मोटरसाइकिल परेड की तस्वीर को लगाते हुए बीएसएफ जवानों को उनके स्थापना दिवस की बधाइयां दी हैं.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus