19 दिसम्बर 2018, बुधवार | समय 15:40:35 Hrs
Republic Hindi Logo

भय्यूजी महाराज ने सिर में गोली मारकर की खुदकुशी, कांग्रेस ने सीबीआई जांच की मांग की

By Republichindi desk | Publish Date: 6/12/2018 5:00:47 PM
भय्यूजी महाराज ने सिर में गोली मारकर की खुदकुशी, कांग्रेस ने सीबीआई जांच की मांग की

इंदौर : अन्ना हजारे और पीएम नरेंद्र मोदी के अनशन तुड़वानेवाले भय्यूजी महाराज ने कथित तौर पर खुद को गोली मारकर खुदकुशी कर ली. इस समय वह अपने घर में थे. उन्होने मौके पर दम तोड़ दिया. घटना के तुरंत बाद उनके सेवादार उन्हें बॉम्बे अस्पताल लेकर गए जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया. भय्यू जी महाराज ने अन्ना हजारे के आंदोलन को खत्म कराने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.

पुलिस की फॉरेंसिक टीम घटनास्थल के लिए रवाना हो गई. उनके घर से सुसाइड नोट मिला है. भय्यू जी महाराज को गोली लगने की जानकारी मिलने के बाद बड़ी संख्या में उनके अनुयायी बॉम्बे हॉस्पिटल पहुंच गए.

शिवराज सिंह चौहान ने शोक जताया

चौहान ने ट्वीट किया, "संत भय्यूजी महाराज को सादर श्रद्धांजलि. देश ने संस्कृति, ज्ञान और सेवा की त्रिवेणी व्यक्तित्व को खो दिया. आपके विचार अनंत काल तक समाज को मानवता की सेवा के मार्ग पर चलने के लिए प्रेरित करेंगे.

सीबीआई जांच की मांग

वहीं कांग्रेस ने भय्यूजी महाराज की मौत की सीबीआई जांच की मांग की है. मध्य प्रदेश कांग्रेस कमिटी के मीडिया प्रमुख मानक अग्रवाल ने कहा, "मध्य प्रदेश सरकार ने उन पर विशेषाधिकार स्वीकार करने और सरकार का समर्थन करने के लिए दबाव डाला था, जिसे उन्होंने मानने से इनकार कर दिया था. वह बहुत मानसिक दबाव में थे. मामले की सीबीआई जांच की जानी चाहिए.

भक्तों में नामी-गिरामी हस्तियां शामिल

भय्यूजी महाराज ने हर क्षेत्र में अपनी पहुंच साबित की. मायानगरी मुंबई का ग्लैमर बॉलीवुड हो या राजनीति का खेल या फिर समाजसेवा का क्षेत्र उन्होंने हर जगह अपनी मौजूदगी दर्ज कराई. उनके आश्रम में अति विशिष्ट संत पहुंचते थे. उनके भक्तों में कई नामी-गिरामी हस्तियां शामिल थीं.

देश के कई बड़े राजनेता, उद्योगपति, फिल्मी दुनिया की हस्तियां, गायक और चर्चित हस्तियां उनके आश्रम में आ चुके हैं. इनमें पूर्व राष्ट्रपति प्रतिभा देवी सिंह पाटिल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे, मनसे प्रमुख राज ठाकरे, सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर, बॉलीवुड की मशहूर गायिका आशा भोंसले, अनुराधा पौडवाल, फिल्म अभिनेता, मिलिंद गुणाजी जैसे चर्चित नाम भी शामिल हैं.

लोकपाल आंदोलन में सुर्खियों में आए

भय्यूजी महाराज पहली बार तब सुर्खियों में आए जब साल 2011 में यूपीए सरकार ने लोकपाल को लेकर अन्ना हजारे के आमरण अनशन को तुड़वाने और उनकी मांगों के मानने का आश्वासन के साथ भय्यूजी महाराज को अपना दूत बनाकर भेजा था. अन्ना ने भय्यूजी महाराज के हाथों से जूस पीकर अपना अनशन तोड़ा था. भय्यूजी महाराज ने गुजरात के तत्कालीन मुख्यमंत्री नरेंद्र मोदी को भी जूस पिलाकर उनका उपवास खुलवाया था जब वे सद्भावना उपवास पर बैठे थे.

कौन हैं भय्यूजी महाराज

भय्यूजी महाराज का मूल नाम उदयसिंह देशमुख है. वह पहले फैशन डिजाइनर थे और बाद में अध्यात्म की ओर मुड़ गए थे. इंदौर में बापट चौराहे पर उनका आश्रम है. यहीं से वे अपने सामाजिक गतिविधियां चलाते थे और ट्रस्ट के कार्यों का संचालन करते थे.

भय्यूजी महाराज का परिवार

भय्यूजी महाराज की पहली पत्नी माधवी का निधन हो चुका है. माधवी से उन्हें एक बेटी हुई जिसका नाम कुहू है जो फिलहाल पुणे में पढ़ाई कर रही है. भय्यूजी महाराज ने दूसरी शादी डॉक्टर आयुषी से की. आयुषी उनके आश्रम में कई सालों से सेवाओं में समर्पित हैं.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus