23 अगस्त 2019, शुक्रवार | समय 08:55:08 Hrs
Republic Hindi Logo

मोकामा टाल में बनती थी शराब, एएसपी लिपि सिंह ने ध्वस्त कराई भट्ठियां

By Republichindi desk | Publish Date: 1/6/2019 7:50:37 AM
मोकामा टाल में बनती थी शराब, एएसपी लिपि सिंह ने ध्वस्त कराई भट्ठियां

पटना: मोकामा टाल में अवैध शराब बनाए जाने की सूचना पर पटना पुलिस की एएसपी लिपि सिंह ने कड़ी कार्रवाई कराई. बड़े पैमाने पर तैयार और अर्द्धनिर्मित शराब को जब्त किया गया और भट्ठियों को ध्वस्त किया गया.

घोसवरी थाना क्षेत्र का है मामला

घोसवरी थाना क्षेत्र के धनकडोभ गांव में अवैध देसी शराब की भट्ठियों को ध्वस्त किया गया. धनकडोभ गांव और सरसों के खेत में शराब बनाई जा रही थी. शराब बनाए जाने की सूचना सहायक पुलिस अधीक्षक लिपि सिंह को मिली. एएसपी के निर्देश पर घोसवरी थाना को छापामारी के लिए भेजा गया. हालांकि घोसवरी थाना छापामारी के नाम पर औपचारिकता पूरी कर वापस आ गई. इस बीच कारोबारी भी फरार हो गया. एएसपी ने दोबारा मोकामा इंस्पेक्टर राजेश रंजन को छापामारी के लिए भेजा. मोकामा इंस्पेक्टर के साथ घोसवरी थाना को भी छापामारी के लिए भेजा गया. मोकामा इंस्पेक्टर द्वारा की गई छापामारी के दौरान बड़े पैमाने पर अवैध शराब जब्त की गई और तैयार तथा अर्धनिर्मित शराब को नष्ट कर दिया गया.

बड़ी मात्रा में शराब नष्ट

12 लीटर तैयार शराब बरामद की गई और साठ गैलनों में रखे 900 लीटर तैयार और अर्धनिर्मित शराब को पुलिस ने जब्त कर लिया. शराब बनाने के उपकरणों को भी पुलिस ने जब्त किया है. एएसपी लिपि सिंह ने बताया कि कई जगहों पर जमीन के नीचे गाड़ कर शराब को रखा गया था और सूचना मिलने के बाद कार्रवाई कराई गई. शराब के कारोबारी हालांकि भाग निकले. एएसपी ने बताया कि छापामारी की वीडियोग्राफी कराई गई है तथा दोषियों के खिलाफ कार्रवाई होगी.

सटीक सूचना के बावजूद फरार हो गया कारोबारी

दरअसल एएसपी को सूचना मिली थी कि शराब कारोबारी घोसवरी में स्टेट बैंक के पास बैठा हुआ है. एएसपी ने घोसवरी थानेदार को कार्रवाई का निर्देश दिया. थानेदार हालांकि सरकारी काम से पटना गए हुए थे. उन्होंने अपने मातहतों को छापामारी के लिए भेजा. हालांकि घोसवरी थाना द्वारा की गई छापामारी में महज औपचारिकता ही पूरी हो पाई थी. एएसपी ने भी इसे गंभीरता से लिया है. दरअसल मुखबिर ने पूरी सूचना एएसपी को मुहैया कराई थी. कारोबारियों के छिपे होने के जगह की जानकारी भी एएसपी को मिल चुकी थी. उसके बावजूद कारोबारी का गिरफ्तार नहीं होना स्थानीय पुलिस की कार्रवाई पर संदेह पैदा करता है. 

भारी मात्रा में बन रही थी अवैध शराब

धनकडोभ गांव में भारी मात्रा में अवैध शराब बनाई जा रही थी. जितना शराब मोकामा थाना प्रभारी के नेतृत्व में की गई छापामारी में बरामद हुआ है, वह अपने आप में शराब के बड़े नेटवर्क के बारे में बताता है. 900 लीटर से अधिक अर्धनिर्मित शराब का पकड़ा जाना तथा 60 गैलनों की बरामदगी ही स्पष्ट करती है कि काफी बड़े पैमाने पर वहां शराब बनाने का खेल चल रहा था.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus