23 सितम्बर 2019, सोमवार | समय 11:27:41 Hrs
Republic Hindi Logo

वैशाली के रण में उतरे सूरजभान, आपका हर वोट देगा नरेंद्र मोदी को ताकत

By Republichindi desk | Publish Date: 5/11/2019 10:12:54 AM
वैशाली के रण में उतरे सूरजभान, आपका हर वोट देगा नरेंद्र मोदी को ताकत

पटना: वैशाली की जंग दिलचस्प हो चुकी है. वैशाली के रण में पहले मोकामा के निर्दलीय विधायक अनंत सिंह उतरे थे और अब मोर्चा सूरजभान सिंह ने संभाल लिया है. बलिया के पूर्व सांसद और लोक जनशक्ति पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष सूरजभान सिंह ने राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की प्रत्याशी वीणा देवी के पक्ष में जबर्दस्त अभियान चलाया. वहां उन्होंने मतदाताओं से कहा कि आपके द्वारा दिया गया हर वोट नरेंद्र मोदी को ताकत प्रदान करेगा.

वैशाली के कई गांवों में सूरजभान सिंह का जनसंपर्क

सूरजभान सिंह ने वैशाली लोकसभा से एनडीए की प्रत्याशी वीणा सिंह के पक्ष में जनसंपर्क अभियान और रोड शो किया. कई जगहों पर लोगों से मिलकर उन्होंने वीणा देवी के पक्ष में वोट मांगा और कहा कि आपके द्वारा लोजपा उम्मीदवार को दिया गया हर वोट प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को ताकत प्रदान करेगा और आपकी ताकत के बल पर नरेंद्र मोदी दुबारा प्रधानमंत्री बनेंगे. सूरजभान सिंह ने यह भी कहा कि 1990 से 2005 का बिहार और 2005 के बाद आज का बिहार पर लोग नजर डालें तो खुद पता चल जाएगा कि वोट किसको करना है. उन्होंने यह भी कहा कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री बनने से पहले अंतरराष्ट्रीय समुदाय में देश की क्या स्थिति थी और आज क्या स्थिति है इसका भी फैसला खुद करें.

राजद के साथ नहीं जा सकता हमारा समाज

सूरजभान सिंह ने बेबाकी से कहा कि वह जिस सामाजिक पृष्ठभूमि से आते हैं वह समाज कभी अपना वोट दूसरी पार्टी को न दिया है, ना देगा. उनका इशारा राष्ट्रीय जनता दल की ओर था. उन्होने कहा कि ब्रह्मर्षि समाज ने 1990 से 2005 तक बिहार में लड़कर नीतीश कुमार को मुख्यमंत्री बनाया और नरेंद्र मोदी को भी प्रधानमंत्री बनाने में यह समाज अगली कतार में था. राजद के प्रत्याशी रघुवंश सिंह के लिए कुछ दिनों पहले मोकामा के निर्दलीय विधायक अनंत सिंह ने कैंपेन चलाया था. अनंत सिंह के जवाब में एनडीए ने सूरजभान सिंह को उतार दिया है. वैशाली और मुजफ्फरपुर के इलाके में सूरजभान सिंह का पुराना प्रभाव रहा है. वहां के कई लोगों से सूरजभान का पुराना संपर्क रहा है. सूरजभान सिंह के इलाके में प्रभाव और संपर्क को देखते हुए ही एनडीए ने अनंत सिंह के जवाब में सूरजभान सिंह को मैदान में उतार दिया है. सूरजभान सिंह भी अपने उस प्रभाव का इस्तेमाल कर लोगों को वीणा देवी के पक्ष में गोलबंद कर रहे हैं.

निर्णायक हैं भूमिहार मतदाता

वैशाली लोकसभा सीट पर भूमिहार मतदाता काफी निर्णायक हैं. जातीय समीकरण की बात की जाए तो लगभग ढाई लाख भूमिहार मतदाता वैशाली लोकसभा क्षेत्र में आते हैं. वैशाली से मुन्ना शुक्ला भी निर्दलीय चुनाव लड़ चुके थे. हालांकि उन्हें पराजय का सामना करना पड़ा था. वैशाली से राजद और एनडीए दोनों ने राजपूत समाज के उम्मीदवारों को मैदान में उतारा है. राजपूत समाज का वोट दोनों प्रत्याशियों को मिलने की संभावना है. यादव मतदाता बड़े पैमाने पर रघुवंश सिंह के पक्ष में जाएंगे. ऐसे में ढाई लाख भूमिहार मत निर्णायक साबित हो सकते हैं. भूमिहार मतदाताओं को एनडीए के पक्ष में गोल बंद करने के लिए ही वहां सूरजभान सिंह सहित अन्य भूमिहार नेताओं को एनडीए ने मैदान में उतारा है. भूमिहार के अलावा डेढ़ लाख वैश्य मतदाता भी वहां हैं.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus