26 जून 2019, बुधवार | समय 19:50:50 Hrs
Republic Hindi Logo

यूपी में गठबंधन को झटका, सपा सांसद प्रवीण निषाद बीजेपी में शामिल

By Republichindi desk | Publish Date: 4/4/2019 1:04:08 PM
यूपी में गठबंधन को झटका, सपा सांसद प्रवीण निषाद बीजेपी में शामिल

रिपब्लिक डेस्क: समाजवादी पार्टी से रिश्ता तोड़ने वाली निषाद पार्टी उत्तर प्रदेश में भारतीय जनता पार्टी के साथ आ गई है. निषाद पार्टी के संस्थापक संजय निषाद के बेटे प्रवीण निषाद ने भारतीय जनता पार्टी ज्वाइन कर ली है. सूत्रों के मुताबिक प्रवीण निषाद को भारतीय जनता पार्टी गोरखपुर सीट से लोकसभा चुनाव में उतार सकती है. 

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के गढ़ गोरखपुर में बीजेपी को हरानेवाले समाजवादी सांसद प्रवीण निषाद हैं. बता दें कि 2017 में सीएम बनने के बाद योगी आदित्यनाथ ने गोरखपुर लोकसभा सीट से इस्तीफा दे दिया था. इसके बाद पिछले साल यहां पर हुए उपचुनाव में समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार प्रवीण निषाद ने इतिहास रचते हुए जीत हासिल की. उन्होंने बीजेपी के उपेंद्र शुक्ला को हराया था.

प्रवीण निषाद के बीजेपी में शामिल होने से साफ है कि वह अब गोरखपुर से पार्टी के उम्मीदवार हो सकते हैं. बता दें कि हाल ही में संजय निषाद ने लखनऊ में उत्तर प्रदेश के सीएम योगी आदित्यनाथ से मुलाकात की थी. दोनों की मुलाकात के बाद से ये चर्चा होने लगी थी कि दोनों पार्टियां साथ चुनाव लड़ सकती हैं. लेकिन अब जब प्रवीण निषाद बीजेपी में शामिल हो गए हैं तो इन सभी चर्चाओं पर विराम लग गया है.

सीएम योगी से मिले संजय निषाद

योगी आदित्यनाथ से मिलने के बाद संजय निषाद ने कहा कि यूपी के सीएम ने मुझे आश्वासन दिया कि हमारी शिकायतों को सुना जाएगा और उनसे निपटा जाएगा. निषाद पार्टी अपने सिंबल पर चुनाव लड़ेगी. एनडीए तय करेगा कि कौन कहां से चुनाव लड़ेगा.

गोरखपुर है सीएम योगी का गढ़

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ किसी भी हाल में गोरखपुर लोकसभा सीट को अपने हाथ से नहीं जाने देना चाहते हैं. यहां से उनके गुरु महंत अवैद्यनाथ सांसद हुआ करते थे. इसके बाद खुद योगी आदित्यनाथ यहां से 1998 से लगातार सांसद चुने जाते रहे. 2017 में सीएम बनने के बाद उन्होंने त्यागपत्र दे दिया था. इसके बाद हुए उपचुनाव में बीजेपी ने पूरा जोर लगाया था कि यह सीट बरकरार रहे लेकिन सपा ने यह सपना चकनाचूर कर दिया.

निषाद उम्मीदवार ही गोरखपुर में

प्रवीण निषाद का टिकट काटने के बाद समाजवादी पार्टी ने गोरखपुर से रामभुआल निषाद को मैदान में उतारा है. गोरखपुर में 3.5 लाख मतदाता निषाद जाति के हैं. इन्हीं निषाद वोटर्स ने पिछले साल हुए उपचुनाव में प्रवीण निषाद की जीत में अहम भूमिका निभाई थी. उपचुनाव में सपा और बसपा ने साझा उम्मीदवार खड़ा किया था. इससे पहले के चुनावों में भी सपा और बसपा निषाद जाति के लोगों का वोट हासिल करने के लिए निषाद उम्मीदवार को ही टिकट देती रही हैं.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus