17 अक्तूबर 2019, गुरुवार | समय 22:16:04 Hrs
Republic Hindi Logo

जय श्री राम उदघोष से नही सियासी इस्तेमाल से दिक्कत है ममता बनर्जी को

By Republichindi desk | Publish Date: 6/3/2019 8:26:38 AM
जय श्री राम उदघोष से नही सियासी इस्तेमाल से दिक्कत है ममता बनर्जी को
रिपब्लिक डेस्क. जय श्रीराम नारे को लेकर बढ़ते विवाद के बीच मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने एक लंबे फेसबुक पोस्ट में सफाई दी है. ममता बनर्जी ने कहा कि उन्हें किसी भी राजनीतिक दल के नारे से कोई दिक्कत नहीं है. उन्होंने कहा कि वो जय सिया राम, जय राम जी की, जैसे धार्मिक नारों के पीछे भावनाओं को समझती हैं, लेकिन बीजेपी जय श्री राम के नारे का इस्तेमाल पार्टी स्लोगन के तौर पर कर रही हैं और ऐसे राजनीतिक नारों को थोपने की किसी कोशिश को हम बर्दाश्त नहीं करेंगे.
 
फेसबुक पोस्ट में ममता बनर्जी ने कहा कि वो लोगों को बताना चाहती हैं कि बीजेपी के समर्थक फेक वीडियो, फेक न्यूज के जरिए गलत सूचनाएं फैला रहे हैं. इससे भ्रम फैल रहा है और सच्चाई छुपाई जा रही है. ममता बनर्जी ने कहा कि राजा राम मोहन राय से लकेर विद्यासागर तक बंगाल महान समाज सुधारकों का स्थल रहा है, लेकिन बीजेपी अपनी रणनीति के जरिए बंगाल में नकारात्मकता फैला रही है.
 
ममता बनर्जी ने कहा कि अगर कोई पार्टी अपनी रैलियों में कोई खास नारा लगाती है तो उन्हें कोई दिक्कत नहीं है. ममता ने लिखा, हर राजनीतिक दल का अपना नारा है, मेरी पार्टी का नारा जय हिंद और वंदे मातरम है, वामदल इंकलाब जिंदाबाद कहते हैं, दूसरी पार्टियों का दूसरा नारा है, हम एक दूसरे का सम्मान करते हैं. ममता बनर्जी ने कहा कि वह जय श्री राम नारे को जबरन थोपे जाने का सम्मान नहीं करती हैं, ये काम कथित तौर पर आरएसएस के नाम पर किया जा रहा है, जिसे बंगाल ने कभी स्वीकार नहीं किया है. ममता बनर्जी ने कहा कि बीजेपी जानबूझकर नफरत की विचारधारा को तोड़फोड़ और हिंसा के जरिए फैलाने की कोशिश कर रही है, इसे हमें एक साथ मिलकर रोकना चाहिए.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus