17 अक्तूबर 2019, गुरुवार | समय 22:10:34 Hrs
Republic Hindi Logo

शैक्षणिक योग्यता विवाद में स्मृति ईरानी के बाद फंसे रवि किशन

By Republichindi desk | Publish Date: 5/3/2019 2:01:19 PM
शैक्षणिक योग्यता विवाद में स्मृति ईरानी के बाद फंसे रवि किशन

रिपब्लिक डेस्क. नामांकन पत्र भरने में शैक्षिक योग्यता के मामले में केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के बाद अब गोरखपुर से भाजपा प्रत्याशी रवि किशन पर भी सवाल उठा है. कुशीनगर के एक युवक ने जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर से रवि किशन की शैक्षिक योग्यता को लेकर शिकायत की है, जिसका परीक्षण कराया जा रहा है. रवि किशन गोरखपुर से भाजपा के प्रत्याशी हैं. इससे पहले लोकसभा चुनाव 2014 में रवि किशन जौनपुर से कांग्रेस से प्रत्याशी थे. उन्होंने उस समय नामांकन पत्र में अपनी शैक्षणिक योग्यता स्नातक लिखा था.

गोरखपुर से भाजपा के प्रत्याशी रवि किशन ने लोकसभा चुनाव 2019 के नामांकन पत्र में अपनी शैक्षणिक योग्यता इंटर लिखी है. कुशीनगर के संतोष कुमार ने इसको लेकर जिला निर्वाचन अधिकारी गोरखपुर के पास अपनी आपत्ति दर्ज कराई है. जिसका परीक्षण कराया जा रहा है. अगर मामला सही पाया जाता है, तो फिर रवि किशन का नामांकन पत्र खारिज भी हो सकता है. भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रवि किशन को भाजपा ने गोरखपुर संसदीय क्षेत्र से उम्मीदवार बनाया है. रवि किशन 2014 में कांग्रेस टिकट पर जौनपुर से लड़े थे. अब गोरखपुर से रवि किशन की दावेदारी मुश्किल में पड़ सकती है. गोरखपुर के निर्वाचन अधिकारी से शिकायत की गई है कि रवि किशन ने लोकसभा चुनावों के नामांकन के दौरान दाखिल हलफनामों में हेरफेर किया है.

कुशीनगर के संतोष कुमार की शिकायत है कि गोरखपुर से नामांकन में रवि किशन ने जो हलफनामा दिया है, उसने अपनी शैक्षिक योग्यता इंटरमीडिएट बताई है. शिकायतकर्ता का कहना है कि 2014 के लोकसभा चुनाव में जौनपुर से पर्चा भरते समय अभिनेता रवि किशन ने खुद को 1992-93 में रिजवी कॉलेज ऑफ साइंस एंड कॉमर्स, मुंबई से बीकॉम पास दिखाया था. भोजपुरी फिल्मों के अभिनेता रवि किशन ने लोकसभा चुनाव 2019 के हलफनामे में शैक्षिक संस्थान का नाम तो वही रखा है, मगर योग्यता बी.कॉम की जगह 12वीं बताई है. उन्होंने कक्षा 12 पास करने का वर्ष 1990 बताया है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus