12 दिसम्बर 2019, गुरुवार | समय 19:15:28 Hrs
Republic Hindi Logo

दीपा दासमुंशी थाम सकती हैं बीजेपी का झंडा

By Republichindi desk | Publish Date: 3/11/2019 8:52:46 AM
दीपा दासमुंशी थाम सकती हैं बीजेपी का झंडा

सत्येंद्र प्रताप सिंह. सीपीएम और कांग्रेस में पश्चिम बंगाल में 6 सीटों पर सहमति बन गई है.  सीपीएम, कांग्रेस की जीती हुई 4 सीटों पर और कांग्रेस, सीपीएम की जीती हुई 2 सीटों पर एक दूसरे के विरुद्ध उम्मीदवार नही देंगे. इसकी आधिकारिक घोषणा भी हो गई है. ऐसे में रायगंज सीट सीपीएम की झोली में चले जाने से दीपा दासमुंशी बेहद नाखुश व नाराज हैं. खबर है कि वह बीजेपी का झंडा थाम रायगंज के चुनावी मैदान में उतर सकती हैं. बीजेपी नेता मुकुल रॉय से उनकी प्राथमिक बातचीत भी हो गई है. हालांकि उन्हें कांग्रेस द्वारा आश्वस्त किया गया है कि दोनों दल मिलकर उन्हें राज्यसभा में भेजेंगे.
 
दीपा दासमुंशी 2014 लोकसभा चुनाव में सीपीएम के मोहम्मद सलीम से हार गई थीं. वैसे भी इस सीट से वह सांसद चुनी जा चुकी हैं और मनमोहन सिंह सरकार में राज्यमंत्री भी बनी थीं. इससे पहले इस सीट से कांग्रेस के कद्दावर नेता प्रियरंजन दास मुंशी चुनाव जीता करते थे. वे यहां से 1999 और 2004 में सांसद रहे, उनके निधन के बाद 2009 में उनकी पत्नी दीपा दासमुंशी यहां से सांसद बनीं. कांग्रेस के मुताबिक 2014 में मोदी लहर में मुस्लिम वोट में विभाजन और चौतरफा मुकाबले की वजह से रायगंज सीट से मोहम्मद सलीम चुनाव जीते थे.
 
बहरहाल, खबर है कि दोनों दलों के मध्य राज्य की सभी 42 सीटों पर सहमति बन गई है. सीपीएम अपने वामपंथी साथियों के साथ 25 सीटों पर और कांग्रेस 17 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. इसकी अधिकृत घोषणा अभी नही हुई है. वैसे पूरी संभावना है कि वामफ्रंट आज अपने 23 उम्मीदवारों की दूसरी सूची जारी कर दे. 2 विजयी सांसदों रायगंज से मोहम्मद सलीम और मुर्शिदाबाद से बदरुद्दोजा खान की पहली सूची पहले ही 8 मार्च को जारी कर चुकी है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus