23 अक्तूबर 2019, बुधवार | समय 05:13:58 Hrs
Republic Hindi Logo

व्यापम घोटालाः100 के खिलाफ दर्ज होगा मामला, नपेगें शिवराज सरकार में रहे आईएएस,आईपीएस अधिकारी

By Republichindi desk | Publish Date: 8/29/2019 5:35:12 PM
व्यापम घोटालाः100 के खिलाफ दर्ज होगा मामला, नपेगें शिवराज सरकार में रहे आईएएस,आईपीएस अधिकारी

न्यूज डेस्कः कांग्रेस ने मध्य प्रदेश में  सरकार में आने से पहले ही शिवराज सरकार के दौरान हुए व्यापम घोटाले की जांच का वादा जनता से किया था. अब कांग्रेस सत्ता में है और अपना वादा पूरा कर रही है. सरकार के निर्देश के बाद एसटीएफ हरकत में आ गई है. इसके तहत बहुचर्चित व्यापम घोटाले की फाइल फिर से खोली जा रही है. उसने पेंडिंग शिकायतों की जांच तेज कर दी है. इसमे 1200 शिकायतों का वेरिफिकेशन किया जा चुका है. उसमें से 197 शिकायतों में बयान लिए जा रहे हैं,ये वो मामले हैं जिन्हें CBI ने बिना जांच किए ही STF को लौटा दिया था.

कमलनाथ सरकार के आदेश पर पूरे योजनाबद्ध तरीके से यह जांच चल रही है. इसकी जद में शिवराज सरकार में रहे कई मंत्री, प्रदेश के आईपीएस, आईएएस अफसरों और रसूखदार लोग भी आ गए हैं. एसटीएफ सभी के खिलाफ सबूत जुटा रही है.

सूत्रों के अनुसार जांच के बाद करीब 100 लोगों के खिलाफ एफआईआर दर्ज करायी जाएगी. इसमे 500 लोगों के नाम शामिल हो सकता है. एसटीएफ की राडार पर शिवराज सरकार में रहे कई मंत्री, आईएएस और आईपीएस अफसर हैं.  शिवराज के जमाने में रहे कई मंत्रिय सीएम कमलनाथ के टार्गेट पर है.

ये है सीएम कमलनाथ का प्लान

जिन 197 पेंडिंग शिकायतों की जांच की जा रही है उसके लिए भोपाल, इंदौर और ग्वालियर में एसआईटी बनायी गयी हैं. इन एसआईटी को ज़िले के एसटीएफ एसपी लीड कर रहे हैं. एसटीएफ सूत्रों से पता चला है कि इनमें से करीब 100 ऐसी शिकायतें हैं, जिनमें एफआईआर करायी जा रही है, उनमें से 500 लोगों को आरोपी बनाया जाएगा. शिकायतों की जांच में शिवराज सरकार के कई मंत्री, आईएएस, आईपीएस अफसरों और रसूखदारों के नाम सामने आ रहे हैं.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus