22 नवम्बर 2019, शुक्रवार | समय 15:55:07 Hrs
Republic Hindi Logo

तेजबहादुर के बाद अतीक अहमद ने भी मोदी के खिलाफ मैदान छोड़ा

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 5/13/2019 5:04:30 PM
तेजबहादुर के बाद अतीक अहमद ने भी मोदी के खिलाफ मैदान छोड़ा

रिपब्लिक डेस्क: वाराणसी संसदीय सीट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ विरोधी या तो टिक नहीं रहे या मैदान छोड़ कर भाग खड़े हो रहे हैं. पहले बीएसएफ से निकाले गये तेजबहादुर यादव का नामांकन रद किये जाने से वह वाराणसी संसदीय सीट से गठबंधन के उम्मीदवार नहीं हो पाये. अब निर्दलीय चुनाव मैदान में उतरे पूर्व सांसद बाहुबली अतीक अहमद ने भी मैदान से हटने का ऐलान किया है.

मीडिया को भेजे गए पत्र में अतीक अहमद ने पैरोल न मिलने के कारण चुनाव से हटने का निर्णय लिया है. साथ ही कहा है कि वह किसी भी प्रत्याशी का समर्थन नहीं करेंगे. गौरतलब है कि अतीक ने निर्दलीय नामांकन करने के बाद चुनाव प्रचार करने के लिए पैरोल की अर्जी दी थी. पिछले दिनों एमपी, एमएलए कोर्ट व उसके बाद हाईकोर्ट ने उसकी अपील खारिज कर दी थी.

अतीक के चुनाव एजेंट एडवोकेट शहनवाज आलम ने रविवार को अतीक का नैनी जेल से लिखा पत्र मीडिया को जारी किया. इस पत्र में चुनाव मैदान से हटने की बात लिखी है. पत्र में लिखा है 'भारत में लोकतंत्र की जड़ें बहुत मजबूत हैं. लेकिन ऐसी विचारधारा के लोग भी मौजूद हैं जो लोकतंत्र को संपत कर हिटलरशाही लाना चाहते हैं.' पत्र में मतदाताओं से सांप्रदायिक ताकतों को परास्त करने की अपील भी की गई है.

हालांकि नामांकन प्रक्रिया पूरी होने के कारण बैलट यूनिट में अतीक अहमद का नाम और चुनाव चिन्ह अंकित रहेगा. शाहनवाज ने बताया कि उनकी ओर से किसी तरह के पास और अनुमति नहीं ली जाएगी. गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ तेलंगाना के 25 किसान समेत 101 लोगों ने नामांकन किया था. जिसमें बीएसएफ से बर्खास्त जवान तेज बहादुर यादव भी शामिल थे, लेकिन उनका नामांकन रद्द हो गया. स्क्रूटनी के बाद अब 25 प्रत्याशी मैदान में हैं. वाराणसी लोकसभा सीट पर 19 मई को लोकसभा चुनाव के आखिरी चरण में मतदान होगा.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus