11 दिसम्बर 2019, बुधवार | समय 05:07:45 Hrs
Republic Hindi Logo

अमीरी और गरीबी के बीच गहरी खाई:अखिलेश यादव

By Republichindi desk | Publish Date: 4/5/2019 3:59:11 PM
अमीरी और गरीबी के बीच गहरी खाई:अखिलेश यादव

नई दिल्ली: समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने शुक्रवार को लखनऊ स्थित पार्टी हेडक्वार्टर से मैनिफेस्टो जारी किया.इस मैनिफेस्टो को 'सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन' की टैगलाइन दी गई है. सामाजिक न्याय की पैरवी करते हुए अखिलेश ने कहा कि वर्तमान सरकार में गरीब और गरीब और अमीर और अमीर हो गए. अगर हम खुशहाली चाहते हैं, तरक्की चाहते हैं तो वह बिना सामाजिक न्याय के मुमकिन नहीं है. अखिलेश ने कह कि 'सरकार किसानों की आत्महत्या के आंकड़े छिपा रही है. सरकार बेरोजगारी और गरीबी के आंकड़े भी छिपा रही है. यह जरूरी है कि ये आंकड़े जनता के सामने आएं.

अखिलेश ने डॉ राम मनोहर लोहिया का जिक्र करते हुए कहा कि उन्होंने कहा था कि गरीबी से लड़ाई एक धोखा है. जबतक जाति और लिंग के आधार पर भेदभाव के खिलाफ लड़ाई ना हो. अखिलेश ने कहा कि आज अमीरी और गरीबी की खाई बेहद गहरी हो चुकी है. इसलिए हम हमारा घोषणापत्र एक नई दिशा, एक नई उम्मीद और सामाजिक न्याय से महापरिवर्तन के वादे के साथ जनता के बीच लाना चाहते हैं.

किसानों के बारे में अखिलेश यादव ने कहा कि किसान तभी खुशहाल होगा जब पूरी तरह से कर्जमाफी होगी. उन्होंने कहा कि जीएसटी से कुछ लोगों को फायदा हुआ होगा, लेकिन ज्यादातर व्यापारियों को काफी घाटा हुआ है. नोटबंदी में कई लोगों की जानें गईं, उसका कोई रेकॉर्ड नहीं है. बैंक डूब रहे हैं. अखिलेश ने कहा विकास का परिभाषा हम सामाजवादियों ने दी. उन्होंने कहा कि हमारे देश में पढ़ाई-लिखाई, प्राइमरी शिक्षा कैसी हो इस पर ध्यान देने की जरूरत है. तभी विकास हो सकता है.

बता दें आगामी लोकसभा चुनाव में बीजेपी को रोकने के लिए समाजवादी पार्टी, बीएसपी और आरएलडी गठबंधन के रूप में मैदान में होगी. एसपी 37 बसपा 38 और आरएलडी 3 सीटों पर चुनाव लड़ेगी.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus