19 नवम्बर 2019, मंगलवार | समय 06:40:29 Hrs
Republic Hindi Logo

पटना किउल सवारी गाड़ी में लूट मामले मे चार धराये, लूट के बाद यात्रियों को चुभोते थे सूई

By Republichindi desk | Publish Date: 10/21/2019 8:10:11 AM
पटना किउल सवारी गाड़ी में लूट मामले मे चार धराये, लूट के बाद यात्रियों को चुभोते थे सूई
पटना: दानापुर मोकामा रेल खंड पर पटना किउल सवारी गाड़ी में डकैती करने वाले चार बदमाशों को जीआरपी ने गिरफ्तार कर लिया है. इनके पास से हथियार और लूट का समान भी बरामद किया गया है. गिरफ्तार अपराधी भागलपुर के सुल्तानगंज के रहने वाले हैं.
 
रेल एसपी ने अपनाया था कड़ा रूख
 
पटना रेल जिला के रेल एसपी सुजीत कुमार ने ट्रेन लूट के बाद बेहद कड़ा रूख अपनाया था. बाढ रेल पुलिस ने प्लेटफार्म संख्या चार के पूर्वी छोर से रूपये और जेवरातों का बंटवारा करते हुए चार बदमाशों को धर दबोचा जबकि तीन बदमाश फरार होने मे कामयाब हो गये. रेल पुलिस द्वारा गिरफ्तार बदमाशों में राहुल कुमार, रवि कुमार, रानु कुमार तथा रूपेश कुख्यात रेल अपराधी हैं. चारों भागलपुर जिले के सुलतानगंज थाने के आदर्शनगर के निवासी हैं. गिरफ्तार बदमाश पूर्व मे भी जेल जा चुके हैं. पकड़े गये चार बदमाशों के पास से एक देशी पिस्तौल, छ्ह जिन्दा कारतूस, आठ मोबाइल, एक सोने की चैन, एक अंगूठी, दो कानबाली, एक ब्लेड, एक कैंची तथा एक सूई बरामद किया है. आशंका है कि भागने मे कामयाब हुए तीनों बदमाश लूटी गयी सामग्री और अन्य हथियार लेकर फरार हुए हैं. गिरफ्तार चारों अपराधियों से पुलिस पूछताछ कर रही है.
 
आधा दर्जन अपराधियों ने की थी लूट
 
जानकारी देते हुए रेल डीएसपी ने बताया कि शनिवार की रात्रि पटना किउल सवारी गाड़ी के बाढ़ रेलवे स्टेशन से खुलते ही उस पर हथियारों  से लैस आधा दर्जन से उपर बदमाश सवार हो गये. ट्रेन के खुलते ही बदमाशों ने मोर्चा संभाल लिया. कुछ बदमाश हथियार का भय दिखाकर यात्रियों से चुपचाप रहने अन्यथा जान मारने की धमकी देने लगे जबकि गिरोह के अन्य सदस्य यात्रियों से लूटपाट करने लगे. देर रात होने और बदमाशों को हाथों में पिस्तौल लहराते देखकर यात्री भयाक्रांत हो गये. घटना की जानकारी मिलने के बाद रेल डीएसपी भगवान दास गुप्ता तत्काल बाढ रेलवे स्टेशन पहुंच गये और मामले की तहकीकात शुरू कर दी. आशंका व्यक्त की जा रही है कि लूटपाट की घटना को अंजाम देकर बदमाश किसी ट्रेन से फिर बाढ़ रेलवे स्टेशन पहुंच गये और चार नम्बर प्लेटफार्म के पूर्वी छोर पर जाकर बैठ गये.
 
लूट के विरोध पर चुभाते थे सूई, दिखाते थे कट्टा
 
सुल्तानगंज और बाढ़ के जिस गैंग ने डकैती की घटना को अंजाम दिया है, उसके सदस्य बड़े ही शातिर थे. सात की संख्या में रहे लुटेरों ने इस घटना को अंजाम दिया था. महिलाओं के जेवरात और यात्रियों के मोबाइल छीनने के दौरान यात्रियों के बीच दहशत कायम करने में बदमाश सफल हुए. हथियार के अलावा इनके पास चाकू, ब्लेड और सुई भी थी. सूत्रों की मानें तो जब भी कोई यात्री विरोध करता था तो उसको कट्टा दिखाकर डराया जाता था. इतना ही नहीं कई यात्रियों को ब्लड और सूई से भी डराया गया. कई यात्रियों से लूट की घटना को अंजाम देने के बाद लुटेरों द्वारा सूई चुभो दी गई. सूई चुभोने के बाद यात्री दर्द से सिहर उठते थे और उनकी चीख सुनकर दूसरे यात्री भी सहम उठते थे. कई यात्रियों को इनके द्वारा चोटिल किया गया. हालांकि कट्टा से फायरिंग नहीं की गई और ब्लेड से किसी यात्री को गंभीर रूप से जख्मी भी नहीं किया गया. गिरफ्तार बदमाशों ने यह भी स्वीकार किया है कि सूई चुभोने से यात्री ज्यादा भयभीत हो उठते थे क्योंकि जब सूई चुभोई जाती थी तो यात्री दर्द से कराह उठते थे और उनकी चीख-पुकार सुनकर दूसरे यात्री बुरी तरह सहम जाते थे.

 
 
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus