12 नवम्बर 2019, मंगलवार | समय 03:49:17 Hrs
Republic Hindi Logo

शर्मनाक: कांडों और कांडाओं के हवाले हो रही राजनीति

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 10/25/2019 12:47:38 PM
शर्मनाक: कांडों और कांडाओं के हवाले हो रही राजनीति

रिपब्लिक हिंदी डेस्क: जिसके खिलाफ सड़कों पर उतर कर न्याय के लिए आंदोलन किया गया. जिसे सत्ताच्युत करने के लिए पार्टी के हर छोटे-बड़े नेताओं ने जोरदार आवाज उठायी, आज वह दूध का धुला बन गया. कल तक जो अपराधी था आज पार्टी के लिए लाभदायक बनते ही चरित्रवान बन गया. दूसरी पार्टी में रहते जो विलेन था, अब हीरो हो गया है. हरियाणा की राजनीति में यह एक बार फिर से चरितार्थ हो रहा है. गौपाल कांडा के दाग अब बीजेपी को आकर्षक लगने लगे हैं. हमारे देश की राजनीति के इस शर्मनाक रुख पर कवि कुमार विश्वास ने विद्रुप कमेंट किया है. ट्विटर पर उन्होंने लिखा है, कि राजनीति "कांडों" और "कांडाओं" के हवाले थी, है और रहेगी.

गौरतलब है कि हरियाणा लोकहित पार्टी (एचएलपी) बनाने वाले गोपाल कांडा ने सिरसा विधानसभा सीट से महज़ 602 वोटों से जीत दर्ज की है. अब बीजेपी की खट्टर सरकार उनका समर्थन ले रही है. गोपाल कांडा पर बलात्कार, आत्महत्या के लिए उकसाने, आपराधिक साजिश रचने जैसे तमाम आरोप लगे थे. इसी बीच उन्होंने हुड्डा सरकार से भी इस्तीफा दे दिया था.

गोपाल कांडा सोशल मीडिया पर भी ट्रेंड कर रहे हैं. लोग उनसे जुड़ी पुरानी तस्वीरें और गीतिका शर्मा की आत्महत्या की कहानी को साझा कर रहे हैं. कई लोगों ने वो तस्वीर भी पोस्ट कर रहे हैं जिसमें बीजेपी नेता गीतिका शर्मा को न्याय दिलाने और गोपाल कांडा को गिरफ़्तार करने की मांग करते हुए प्रदर्शन कर रहे थे.

हरियाणा विधानसभा में 90 सीटें हैं और बहुमत के लिए 46 सीटों की जरूरत है. पांच साल से सत्ता में बैठी बीजेपी 40 सीटें ही जीतने में कामयाब हो पाई है. ऐसे में उसे दोबारा सरकार बनाने के लिए छह और विधायकों की ज़रूरत है. बीजेपी को जिस नए विधायक ने सबसे पहले अपना समर्थन पेश किया है वो हैं गोपाल कांडा. अन्य निर्दलीयों ने भी बीजेपी को समर्थन दिया है.

कांडा साल 2009 में निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर जीत कर विधायक बने थे और उस समय हरियाणा की हुड्डा सरकार में उन्हें मंत्रिपद भी मिला था. हरियाणा की राजनीति पर नज़र रखने वालों के मुताबिक गोपाल कांडा और उनके भाई गोविंद कांडा की गिनती प्रदेश की प्रभावशाली राजनीतिक हस्तियों में होती है.

गोपाल कांडा का नाम साल 2012 में तब चर्चा में आया था जब उनकी एयरलाइन कंपनी में काम करने वाली एक महिला कर्मचारी गीतिका शर्मा ने आत्महत्या कर ली थी. गीतिका ने पांच अगस्त 2012 को खुदकुशी की थी. उनका शव दिल्ली के अशोक विहार स्थित घर पर पंखे से लटका हुआ मिला था. अपने सुसाइड नोट में गीतिका ने कथित रूप से गोपाल कांडा और उनकी कंपनी की एक कर्मचारी अरुणा चड्ढा का नाम लिया था.

कांडा एमडीएलआर एयरलाइंस के मालिक थे, जहां गीतिका बतौर एयर होस्टेस काम करती थीं. कांडा ने खुद पर लगे आरोपों को गलत बताया था और वो लगभग 10 दिन तक अंडरग्राउंड रहे थे. इसके बाद उन्होंने पुलिस के सामने आत्मसमर्पण कर दिया था.

गीतिका शर्मा की आत्महत्या के छह महीने बाद उनकी मां ने भी आत्महत्या कर ली थी और उन्होंने भी अपने सुसाइड नोट में कथित तौर पर कांडा का नाम लिया था. गोपाल कांडा को लगभग 18 महीने जेल में रहना पड़ा था. बाद में मार्च 2014 में दिल्ली हाईकोर्ट ने उन पर लगे रेप के आरोप हटा लिए थे और उन्हें ज़मानत दे दी थी. ज़मानत पर बाहर आने के बाद साल 2014 में ही गोपाल कांडा ने अपने भाई के साथ मिलकर हरियाणा लोकहित पार्टी का गठन किया और उस समय के विधानसभा चुनाव भी लड़ा. गोपाल कांडा के भाई गोविंद कांडा ने भी एक न्यूज़ चैनल पर पुष्टि की है कि वो बीजेपी को समर्थन दे रहे हैं.

इसके बाद से ही गोपाल कांडा सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रहे हैं. लोग उनसे जुड़ी पुरानी तस्वीरें और गीतिका शर्मा की आत्महत्या की कहानी को साझा कर रहे हैं. कई लोगों ने वो तस्वीर भी पोस्ट कर रहे हैं जिसमें बीजेपी नेता गीतिका शर्मा को न्याय दिलाने और गोपाल कांडा को गिरफ़्तार करने की मांग करते हुए प्रदर्शन कर रहे थे.

इंडियन यूथ कांग्रेस के सोशल मीडिया इंचार्ज वैभव वालिया ने यही तस्वीर ट्वीट कर लिखा है, 'एक वक़्त था जब गोपाल कांडा बीजेपी के नेताओं के लिए सबसे नापसंद किए जाने वाले नेता थे. मुझे नहीं पता अब उन्हें गीतिका शर्मा को न्याय दिलाने की चिंता है या नहीं.' नरेंद्र नाथ मिश्रा ने तंज भरे लहज़े में लिखा है कि गोपाल कांडा को शायद महिला बाल विकास मंत्रालय मिल जाएगा.

कृष्ण प्रताप सिंह ने लिखा है, 'बीजेपी रोज बोलती रहती है बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ... और फिर हरियाणा में गोपाल कांडा से समर्थन भी ले लेते हैं.'

 अब बीजेपी में भी उठे सवाल

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus