21 नवम्बर 2019, गुरुवार | समय 16:33:44 Hrs
Republic Hindi Logo

बिहार विपक्ष की कमान किसके हाथ, तेजस्वी या तेजप्रताप !

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 6/27/2019 1:29:50 PM
बिहार विपक्ष की कमान किसके हाथ, तेजस्वी या तेजप्रताप !

रिपब्लिक डेस्क: बिहार में 28 जून को विधानसभा का मानसून सत्र शुरू होने वाला है और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव का कहीं अता-पता नहीं है. राजनीतिक जानकारों का मानना है कि लोकसभा चुनाव में महागठबंधन को मिली हार के प्रहार से विपक्ष अभी तक उबर नहीं पाया है. महागठबंधन की एकजुटता को लेकर भा संशय बना हुआ है. यहां तक कि राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) में भी सबकुछ ठीक नहीं है. लालू प्रसाद यादव के बड़े बेटे तेजप्रताप यादव का बागी रुख बरकरार हैं. ऐसे में सवाल उठता है कि बिहार में विपक्ष की कमान किसके हाथों में रहेगी. तेजप्रताप यादव संभालेंगे मोरचा या तेजस्वी यादव के हाथों ही रहेगी विपक्ष की बागडोर.

गौरतलब है कि नित नये पैंतरे दिखानेवाले तेजप्रताप ने तेज सेना बनाने की घोषणा की है. इधर राजद सूत्रों का कहना है कि विधानसभा के मॉनसून सत्र में तेजस्वी यादव मौजूद रहेंगे. यानी दोनों ही शुक्रवार को शुरू हो रहे विधानसभा के सत्र में उपस्थित रहनेवाले हैं. 28 जून की शाम को राजद विधायक दल की बैठक भी होनेवाली है. उसमें भी दोनों की मौजूदगी अपेक्षित है. राजद सूत्रों ने बताया कि विधानसभा सत्र के दौरान पार्टी की रणनीति तय करने के राजद की बैठक होगी. तेजस्वी यादव विधानसभा सत्र और उसके बाद बैठक में शामिल होंगे.

29 मई से तेजस्वी गायब

गौरतलब है कि 29 मई को राजद ने हार की समीक्षा बैठक बुलाई थी. उस बैठक के बाद तेजस्वी यादव बिहार के बाहर चले गए और अबतक नहीं लौटे हैं. अब बिहार में विधानमंडल का मानसून सत्र 28 जून से शुरू हो रहा है और हर जगह बिहार विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष की खोज हो रही है. अब तक उनकी कोई खबर नहीं है. इससे पहले बीते शनिवार को तेजस्वी के पिता लालू यादव से मुलाकात की भी खबर आई थी कि तेजस्वी और तेजप्रताप दोनों एक साथ लालू यादव से मुलाकात करेंगे. हालांकि, लालू से सिर्फ तेजप्रताप यादव ने ही मुलाकात की और तेजस्वी पिता से मिलने नहीं पहुंचे.

क्या बीमार हैं तेजस्वी

भाई वीरेन्द्र ने बताया है कि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की तबीयत आजकल ठीक नहीं है. जैसे ही उनकी तबीयत ठीक होगी, वे पटना आयेंगे. पटना आने के बाद तेजस्वी यादव सीधे मुजफ्फरपुर का दौरा करेंगे. वहीं, महागठबंधन में अनबन की खबरों को नकारते हुए भाई वीरेंद्र ने कहा कि सब ठीक है. सभी दलों के काम करने का अपना तरीका होता है, लेकिन महागठबंधन एकजुट है.

तेज सेना का गठन

तेज प्रताप ने अपने आधिकारिक फेसबुक और इंस्टाग्राम अकाउंट से तेज सेना की लॉन्चिंग के बारे में जानकारी दी है. इसमें समर्थकों से अपील करते हुए कहा गया है, 'बदलाव के लिए तेज सेना में शामिल हों. बदलाव की इच्छा रखने वालों के लिए एक ऑनलाइन प्लैटफॉर्म 28 जून को लॉन्च हो रहा है. अपील में तेज प्रताप की तस्वीर के साथ आरजेडी के चुनाव निशान लालटेन को भी जगह दी गई है. इसके अलावा एक मोबाइल नंबर जारी करते हुए लॉन्चिंग का वक्त 28 जून की सुबह 10.30 बजे रखा गया है.

गौरतलब है कि लोकसभा चुनाव के दौरान महागठबंधन में टिकट बंटवारे पर नाराजगी जताते हुए तेज प्रताप ने लालू-राबड़ी मोर्चे का ऐलान किया था. अब तेज प्रताप अपने नाम से तेज सेना बनाने जा रहे हैं. इसके लिए बाकायदा सोशल मीडिया के जरिए अपील भी की गई है. आरजेडी में सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है. इससे पहले कई मौकों पर तेज प्रताप नाराजगी का इजहार कर चुके हैं.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus