24 अगस्त 2019, शनिवार | समय 17:35:39 Hrs
Republic Hindi Logo

प्रियंका की चर्चा में महाराज हुए गुम पर विश्वसनीयता बढ़ी

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 1/24/2019 10:38:42 AM
प्रियंका की चर्चा में महाराज हुए गुम पर विश्वसनीयता बढ़ी

लखनऊ: मीडिया, ट्विटर, फेसबुक व अन्य सोशल मीडिया प्लेटफार्म पर प्रियंका गांधी की राजनीति में आने को लेकर चर्चा छिड़ गई है. लेकिन ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया की बात इस बीच दब गयी है. कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के सबसे विश्वासपात्र ‘महाराज’ अर्थात ज्योतिरादित्य माधवराव सिंधिया ने अपनी विश्वसनीयता का लोहा मनवाया है. उसी का परिणाम है कि उनको पश्चिमी यूपी की कमान सौंपी गयी है. वह भी प्रियंका गांधी के साथ उनको बराबर महत्व दिया गया है. राहुल गांधी ने इन दोनों को उस राज्य की जिम्मेदारी दी है जहां से होकर देश की सत्ता की सीढ़ी गुजरती है.

मध्य प्रदेश में विधानसभा चुनावों के बाद जब मुख्यमंत्री का चुनाव हो रहा था तो राजनीति में दिलचस्पी रखने वालों की नजर दिल्ली स्थिति राहुल गांधी के बंगले पर थी क्योंकि वहीं से यह फाइनल किया जाना था कि मध्य प्रदेश के अगले मुख्यमंत्री दशकों से गांधी परिवार के साए की तरह बने रहे दिग्गज कमलनाथ होंगे या राहुल गांधी की यूथ बिग्रेड के सबसे दमदार चेहरों में से एक ज्योतिरादित्य सिंधिया होंगे. उस समय बाजी कमलनाथ के हाथ रही और वे मुख्यमंत्री बनाए गए.

यह भी देखें-

इसके बाद से ही राजनीतिक गलियारों में यह चर्चा रही कि युवाओं की बार बार बात करने वाली कांग्रेस ने ज्योतिरादित्य सिंधिया को मुख्यमंत्री क्यों नहीं बनाया गया. खुद सिंधिया भी हर उस सवाल का जवाब इस बात देते रहे कि प्रदेश में कांग्रेस पार्टी को जीत दिलाना ही उनका अंतिम मकसद था और वो पूरा हुआ. लेकिन कहते हैं ना कि राजनीति में हर वक्त हासिल करना ही सबकुछ नहीं होता. कभी-कभी आप कुछ दूसरों के लिए अपनी जगह छोड़कर आगे की राह आसान कर लेते हैं. हुआ वही. उस समय ज्योतिरादित्य सिंधिया ने हारकर खुद को बड़ा साबित कर दिया.

यह तो तय था कि सिंधिया को कांग्रेस संगठन में बहुत बड़ी जिम्मेदारी मिलने वाली है, अब उसकी शुरुआत हो चुकी है. राहुल गांधी के सबसे विश्वासपात्र 'महाराज' को उस राज्य की जिम्मेदारी दे दी गई है जहां से होकर देश के सत्ता का गलियार जाता है. 80 लोकसभा सीटों वाले उत्तर प्रदेश के पश्चिमी छोर पर बैठकर ज्योतिरादित्य सिंधिया कांग्रेस पार्टी को मजबूत करेंगे. उन्हें पश्चिमी यूपी का प्रभार दिया गया है.

इसके अलावा प्रियंका गांधी ने भी सक्रिय राजनीति में एंट्री मार दी है. पार्टी के महासचिव अशोक गहलोत की तरफ से प्रेस रिलीज जारी की गई है. जिसमें लिखा है, 'कांग्रेस अध्यक्ष ने प्रियंका गांधी वाड्रा को पूर्वी उत्तर प्रदेश की महासचिव के तौर पर नियुक्त किया है. वह फरवरी के पहले सप्ताह में पद संभालेंगी और ज्योतिरादित्य सिंधिया को पश्चिमी यूपी की कमान सौंपी गई है.'

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus