25 मार्च 2019, सोमवार | समय 11:00:08 Hrs
Republic Hindi Logo

दिल्ली में दोस्ती, बंगाल और संसद में कुश्ती

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 2/13/2019 3:44:05 PM
दिल्ली में दोस्ती, बंगाल और संसद में कुश्ती

कोलकाताः राजनीति में कुछ भी हो जाये, उस पर आश्चर्य नहीं होता. पल में तोला पल में माशा जैसी पॉलिटिकल प्रतिक्रिया और घर में कुश्ती बाहर दोस्ती जैसे हालात राजनीति के दोहरे चरित्र को उजागर करते हैं. संसद के बाहर टीएमसी के सांसदों के विरोध प्रदर्शन का समर्थन करने कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी पहुंचे. टीएमसी के सांसदों ने मुस्करा कर उनका स्वागत भी किया. वहीं संसद के भीतर कांग्रेस सांसद और पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अधी रंजन चौधरी ने टीएमसी सांसदों की गिरफ्तारी की मांग की. चौधरी चिटफंड मामले में टीएमसी के नेतृत्ववाली पश्चिम बंगाल सरकार के मंत्रियों पर पैसे लेने का आरोप लगाते दिखे.

ममता के आने के पहले हटे येचुरी

कांग्रेस और टीएमसी ही नहीं बल्कि सीपीआईएम के केंद्र और प्रदेश के नेताओं में भी इसी तरह की स्थिति दिखायी दी. दिल्ली में बीजेपी के खिलाफ आयोजित महारैली में विपक्षी नेता दिल्ली के जंतर-मंतर पर जुटे हैं. दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की आम आदमी पार्टी रैली का नेतृत्व कर रही है. इस रैली में ममता बनर्जी, चंद्रबाबू नायडू समेत तमाम विपक्षी नेता जुट रहे हैं. बंगाल की सियासत की आंच जंतर-मंतर के मंच पर भी देखने को मिली. ममता बनर्जी के आने से पहले ही वामपंथी नेता सीताराम येचुरी और डी राजा वहां से चले गए. संसद के अंदर भी माकपा के सांसद मोहम्मद सलीम ने टीएमसी के नेताओं को गिरफ्तार करने की मांग की. हो सकता है आनेवाले समय में ये एक दूसरे से कंधा से कंधा मिला कर चलते नजर आये क्योंकि राजनीति में कोई स्थायी दोस्त या दुश्मन नहीं होता.

ममता बनर्जी ने की पुष्टि

तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो और बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने भी दिल्ली और बंगाल के लिए अलग-अलग रुख अख्तियार करने को जायज ठहराया. आप के सत्याग्रह सभा को मंच से ममता बनर्जी ने कहा कि बंगाल में तृणमूल कांग्रेस मजबूत है, वहां हम कांग्रेस, सीपीएम और बीजेपी तीनों को हम 42 सीटों पर हरायेंगे. केंद्र में बीजेपी के खिलाफ हम सीपीएम और कांग्रेस के साथ मिलकर लड़ाई करेंगे.

मोदी पर मुलायम हुए सपा संरक्षक

समाजवादी पार्टी भी यूपी में बीजेपी के खिलाफ लड़ती है लेकिन उसके संरक्षक संरक्षक मुलायम सिंह यादव ने लोकसभा की आखिरी बैठक में पीएम नरेंद्र मोदी को ऐसा आशीर्वाद दिया जो उनके बेटे अखिलेश यादव को भरपूर नागवार गुजरेगा. संसद में मुलायम सिंह ने कहा कि उनकी कामना है कि नरेंद्र मोदी फिर से प्रधानमंत्री बनें. साथ ही मुलायम सिंह ने कहा कि वह चाहते हैं कि एनडीए के सभी सांसद फिर से जीतकर आएं.
 

विपक्ष का जमावड़ा

आप पार्टी के दिल्ली संयोजक गोपाल राय के मुताबिक रैली में पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी, आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन चंद्रबाबू नायडू, पूर्व प्रधानमंत्री एचडी देवगौड़ा, नेशनल कॉन्फ्रेंस के फारूक अब्दुल्ला और एनसीपी के प्रमुख शरद पवार इसमें शामिल होंगे. समाजवादी पार्टी, डीएमके, राष्ट्रीय जनता दल, राष्ट्रीय लोक दल और अन्य पार्टियों के नेता भी महारैली को संबोधित करेंगे. उन्होंने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को भी रैली में शामिल होने का निमंत्रण भेजा गया है. दिल्ली सरकार में मंत्री गोपाल राय ने बताया कि पार्टी ने उन सभी विपक्षी नेताओं को निमंत्रण भेजा है जो पिछले महीने तृणमूल कांग्रेस की अध्यक्ष बनर्जी की ओर से आयोजित की गई बीजेपी विरोधी रैली में आए थे.

दिल्ली में लगे ममता के ऐसे पोस्टर

ममता बनर्जी विपक्ष की महारैली में शामिल होने के लिए दिल्लीस पहुंचीं, तो उनका स्वाधगत कुछ पोस्टबरों के साथ हुआ. इन पोस्टलरों पर ममता बनर्जी पर तंज कसे गए हैं. दिल्ली में यूथ ऑफ डेमोक्रेसी नाम की ओर से लगाए गए पोस्टर्स में लिखा है, 'दीदी यहां खुलकर मुस्कुराइए, आप लोकतंत्र में हैं. वहीं एक अन्य पोस्टर पर लिखा है, 'दीदी यहां आपको लोगों को संबोधित करने से कोई नहीं रोकेगा. गौरतलब है कि पश्चिम बंगाल में बीजेपी के राष्ट्री य अध्यीक्ष अमित शाह और उत्तेर प्रदेश के मुख्यामंत्री योगी आदित्ययनाथ के हेलीकॉप्टगर को लैंडिंग की इजाजत प्रदेश सरकार की ओर से नहीं मिली थी.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus