22 अप्रैल 2019, सोमवार | समय 01:41:38 Hrs
Republic Hindi Logo

शहरों में आवारा कुत्तों के आतंक से कौन बचाये

By Republichindi desk | Publish Date: 4/15/2019 4:13:52 PM
शहरों में आवारा कुत्तों के आतंक से कौन बचाये

रिपब्लिक डेस्क.महानगरों में स्ट्रीट डॉग पर अंकुश नहीं लगाने से स्थिति भयावह भी हो सकती है. पंजाब के अमृतसर के पॉश इलाके की महिंद्रा कॉलोनी में एक बच्चा आवारा कुत्तों के हमले का शिकार हो गया, लेकिन स्थानीय लोगों की तत्परता से बच्चे की जान बच गयी. जानकारी के अनुसार, अमृतसर के पॉश महिंद्रा कॉलोनी में स्थित पार्क में एक बच्चा खेलने जा रहा था. उसी समय बच्चे को अकेले देखकर कुत्तों ने उसे घेर लिया.

स्ट्रीट डॉग के झुंड में बच्चा फंस गया तो वे उसे अपनी तरफ खींचने लगे और उसे नोंचने लगे. तभी स्थानीय लोगों की नजर बच्चे पर पड़ी, जिससे बच्चे की जान तो बच गयी, लेकिन इस आतंक से उबरने में उसे बहुत समय लगेगा. स्थानीय लोगों के अनुसार शहर में आवारा कुत्तों का कहर जारी है. लेकिन स्थानीय प्रशासन को इसकी परवाह नहीं है.

शहर में आवारा कुत्तों के खौफ की यह पहली घटना नहीं है. गुजरात के अहमदाबाद के जमालपुर इलाके में आवारा कुत्तों ने एक बच्चे को इतनी बुरी तरह से काटा कि उसे अस्पताल ले जाना पड़ा. कुत्तों ने बच्चे को तीन जगह काटा. यह पूरा हादसा सीसीटीवी में कैद हो गया.कुत्तों ने जब हमला बोला तो बच्चा चीखने लगा, जिसकी आवाज सुनकर स्थानीय लोग जुटे. इसके बाद बच्चे की जान बची.

ऐसे ही हादसे के बाद इंदौर में आवारा कुत्तों की समस्या को लेकर दायर जनहित याचिका की सुनवाई चल रही है. याचिकाकर्ता द्वारा स्मार्ट सिटी कंपनी आईडीए और वेटरनरी विभाग को भी पक्षकार बनाया गया है. हाई कोर्ट ने सभी को नोटिस देकर जवाब देने के लिए कहा है. निगम ने याचिका दायर होने के बाद आवारा कुत्तों की नसबंदी और टीके लगाने का अभियान शुरू कर रखा है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus