23 अगस्त 2019, शुक्रवार | समय 08:42:10 Hrs
Republic Hindi Logo

कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान छह आतंकी मार गिराए,दो जवान शहीद

By Republichindi desk | Publish Date: 5/17/2019 1:00:45 PM
कश्मीर में मुठभेड़ के दौरान छह आतंकी मार गिराए,दो जवान शहीद

न्यूज डेस्कः जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों ने 12 घंटे के अंदर पुलवामा और शोपियां में मुठभेड़ के दौरान छह आतंकी मार गिराए, इनमें से एक पाक का रहने वाला खालिद जैश का कमांडर भी शामिल है.मुठभेड़ में सेना के दो जवान शहीद हो गए, जबकि एक नागरिक की मौत हो गई. शहीद हुए जवानों के नाम संदीप और रोहित यादव बताया गया है. पुलवामा में मुठभेड़ स्थल से गोला-बारूद समेत कई आपत्तिजनक सामग्री बरामद हुई हैं.

सुरक्षा अधिकारियों के अनुसार सुरक्षाबलों ने सुबह डेलीपुरा इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान चलाया था. इसी दौरान एक मकान में छिपे आतंकियों ने गोलीबारी शुरू कर दी. जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकी मारे गए. इनकी पहचान जैश आतंकी नसीर पंडित, शोपियां निवासी उमर मीर और पाक के खालिद के रूप में हुई है. वहीं, देर शाम शोपियां में भी तीन और आंतकियों को मार गिराया गया.

पुलिस के प्रवक्ता ने कि पुलिस और सुरक्षाबलों ने सूचना के आधार पर सुबह पुलवामा के डेलीपुरा इलाके की घेराबंदी कर तलाशी अभियान शुरू किया. जब सुरक्षाबल एक मकान और उसके आसपास से आम नागरिकों को बाहर निकाल रहे थे तभी वहां छिपे आतंकवादियों ने उन पर गोलीबारी शुरू कर दी. इस दौरान सेना के एक जवान संदीप शहीद हो गए. वह हरियाणा के रहने वाले थे. एक आम नागरिक रईस डार की भी मौत हो गईय वहीं, शोपियां में सूचना के आधार पर सुरक्षा बलों ने तलाशी अभियान चलाया। इस दौरान एक मकान में छिपे आतंकियों पर उन पर गोलीबारी शुरू दी. जवाबी कार्रवाई में सुरक्षा बलों ने तीन आतंकियों को ढेर कर दिया.


तीनों आतंकियों के शव बरामद

प्रवक्ता ने बताया कि इसके बाद सुरक्षाबलों ने भी जवाबी कार्रवाई में तीन आतंकियों को मार गिराया. उनके शव बरामद कर लिए गए हैं। मारे गए आतंकवादियों की पहचान करीमाबाद पुलवामा निवासी नसीर पंडित, शोपियां निवासी उमर मीर और पाकिस्तान के खालिद के रूप में की गई है. वे सुरक्षा प्रतिष्ठानों पर हमला एवं आम नागरिकों पर ज्यादतियां करने समेत कई आतंकवादी अपराधों में संलिप्तता को लेकर वांछित थे.

नसीर पंडित पर कई आपराधिक मामले दर्ज

नसीर पंडित का आतंकवादी संगठन में शामिल होने से पहले आतंकवादी गतिविधियों का पुराना रिकॉर्ड था और जैश में शामिल होने के बाद इलाके में आतंकवादी हमले करने और उनका षड्यंत्र रचने के संबंध में उसके खिलाफ कई आतंकवादी आपराधिक मामले दर्ज हैं। वह 2018 में ईद की पूर्व संध्या पर पुलवामा के पुलिसकर्मी मोहम्मद याकूब शाह की हत्या में भी शामिल था. वह आतंकवादी इलाके में दर्ज की गई हथियार छीनने की कई घटनाओं में भी शामिल था.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus