26 मार्च 2019, मंगलवार | समय 04:20:03 Hrs
Republic Hindi Logo

पत्रकार मर्डर केस: बलात्कारी राम रहीम दोषी करार,17 को होगी सजा

By Republichindi desk | Publish Date: 1/11/2019 3:12:45 PM
पत्रकार मर्डर केस: बलात्कारी राम रहीम दोषी करार,17 को होगी सजा

चंडीगढ़: पंचकूला स्थित हरियाणा की विशेष सीबीआई कोर्ट द्वारा पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्या मामले में बलात्कारी बाबा राम रहीम पर फैसला आ चुका है. कोर्ट ने फैसला सुनाते हुए पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या के मामले में  राम-रहीम  को दोषी करार दिया है. 17 जनवरी को सजा सुनायी जायेगी. शुक्रवार को  राम-रहीम के साथ ही चार अन्य आरोपियों को भी दोषी करार दिया गया है. बता दें कि  राम रहीम रोहतक की सुनारिया जेल में बंद है. उसे  वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए पेश किया गया.

जज जगदीप सिंह ने सुनाया फैसला

16 साल पुराने पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड मामले की सुनवाई पिछले सप्ताह पूरी हुई है. बता दें कि साध्वी दुष्कर्म मामले में गुरमीत सिंह राम रहीम को सजा सुनाने वाले जज जगदीप सिंह ही इस हत्याकांड में भी दोषी करार दिये. कोर्ट के इस फैसले पर 17 जनवरी को सजा सुनाया जायेगा.

यह भी देखें-

सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम

फैसला सुनाये जाने को लेकर इलाके में हाई अलर्ट जारी है. पंचकूला में धारा 144 लगाई गई है. पंचकूला पुलिस उपायुक्त कमलदीप गोयल ने इस बात की पुष्ट‍ि की है. इस मामले में डेरा सच्चा सौदा प्रमुख गुरमीत राम रहीम आरोपी है जो इस समय अपनी दो अनुयायियों के बलात्कार के जुर्म में रोहतक की सुनारिया जेल में 20 साल की सजा काट रहा है.  फैसले की घड़ी को देखते हुए हरियाणा और पंजाब के कई क्षेत्रों में सुरक्षा बढ़ा दी गई  थी. सिरसा में राम रहीम का डेरा है. लिहाजा बड़े तादाद में समर्थक वहां पहुंच सकते हैं. इस बार कोई हिंसात्मक घटना ना हो इसलिए सिरसा में भी नाके  पर पुलिस बल तैनात किया गया है. नाके लगाकर चेकिंग अभियान चलाया जा रहा है. रोहतक में ड्रोन कैमरा से भी हर गतिविधि पर नजर रखी जा रही है.

पत्रकार रामचंद्र छत्रपति हत्याकांड

डेरा प्रमुख गुरमीत सिंह राम रहीम पर सिरसा के पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की हत्या का आरोप है. ये हत्याकांड 16 साल पुराना है. दरअसल, 2002 में पत्रकार रामचंद्र छत्रपति की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. वो लगातार अपने समाचार पत्र में डेरे में होने वाले अनर्थ से जुड़ी ख़बरों को छाप रहे थे.  छत्रपति ने ही साध्वियों से दुष्कर्म के मामले का खुलासा किया था. छत्रपति ने अपने सांध्यकालीन समाचार पत्र पूरा सच में इस संबंध में अनाम साध्वी का पत्र प्रकाशित किया था और पूरे मामले का खुलासा किया था.राम रहीम ने उनकी गोली मरवाकर हत्या करवा दी. पत्रकार के परिवार ने इस संबंध में मामला दर्ज कराया था. उनकी याचिका पर अदालत ने इस हत्याकांड की जांच नवंबर 2003 को सीबीआई के हवाले कर दी थी. 2007 में सीबीआई ने कोर्ट में चार्जशीट दाखिल करते हुए डेरा मुखी गुरमीत सिंह राम रहीम को हत्या की साजिश रचने का आरोपी माना था.

जीत के बाद विराट आर्मी का जश्न-

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus