20 फरवरी 2019, बुधवार | समय 17:54:07 Hrs
Republic Hindi Logo

ओवैसी क्यों बोले मेरी हालत रजिया गुंडों में फंस गई जैसी

By Republichindi desk | Publish Date: 2/11/2019 8:45:30 AM
ओवैसी क्यों बोले मेरी हालत रजिया गुंडों में फंस गई जैसी

न्यूज़ डेस्क. AIMIM चीफ असदुद्दीन ओवैसी बोले, न मैं बीजेपी से मिला हुआ हूं और न कांग्रेस से, मेरी हालत रजिया गुंडों में फंस गई जैसी है. आज देश में ऐसा माहौल है कि जो कांग्रेस का विरोध करेगा वह बीजेपी का एजेंट हो जाता है. जो मोदी के खिलाफ बोलता है वह राष्ट्रद्रोही हो जाता है. मेरी तो हालत ऐसी हो गई है कि हमारे हैदराबाद में उर्दू में एक कहावत है कि फंस गई रजिया गुंडों में वैसी हो गई है. मैं बीजेपी के खिलाफ बोलूंगा तो राष्ट्रद्रोही है ये, कांग्रेस के खिलाफ बोलूंगा तो बोलेंगे बी-टीम है ये, सी-टीम है ये. पैसे ले रखा है इनलोगों ने. उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि मैंने कई बार कहा कि कुछ तो दिलाओ मुझे पैसे, अभी तक तो नहीं मिले हैं. उन्होंने कहा कि राहुल गांधी खुद हैदराबाद आए थे. उन्होंने मेरे चुनावी क्षेत्र में तीन सभाएं की. उन्होंने तोते की तरह रट-रटकर कहा कि सी-टीम है, सी-टीम है. पैसे ले लिए, वोट काटते हैं, लेकिन हैदराबाद की जनता ने बता दिया कि कौन बीजेपी को हरा सकता है. दरअसल, भारतीय जनता पार्टी AIMIM अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी पर कांग्रेस का बी टीम होने और कांग्रेस बीजेपी से मिले होने का आरोप लगाती रही है.

 AIMIM अध्यक्ष और सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस अकेले दम पर कभी बीजेपी को नहीं हरा सकती. ओवैसी ने कहा कि कांग्रेस के पास न कैपेसिटी है, न केपेबिलिटी है और न ही क्वालिटी है. उन्होंने कांग्रेस और बीजेपी दोनों पर हमला बोला. असदुद्दीन ओवैसी ने कहा कि कहा कि दोनों राष्ट्रीय पार्टियों की सबसे बड़ी लड़ाई यह है कि सबसे बड़ा हिन्दू कौन है ? यही उनकी सबसे बड़ी लड़ाई है. आप देखते होंगे कि चाहे राहुल गांधी हो या नरेंद्र मोदी. इनमें यह कॉम्पिटीशन है कि आप दो मंदिर जाएंगे तो हम पांच मंदिर जाएंगे. आप चलकर जाएंगे तो मैं तालाब में प्लेन को उतार दूंगा. ओवैसी ने कहा, मैं आवाम का एजेंट हूं. मैं अपनी राजनीति कर रहा हूं. मैं 8 साल यूपीए के साथ था. कई बार मैं कांग्रेस अध्यक्ष के घर गया. उस समय तो मैं बहुत नेक आदमी था, आज मैं बुरा हो गया क्योंकि मैं अब उनकी मुखालफत कर रहा हूं.

 ओवैसी ने कहा कि हम तेलंगाना में केसीआर के साथ हैं. हमारी पूरी कोशिश होगी कि तेलंगाना की 17 सीटों पर 17-0 का रिजल्ट आए. वहां न बीजेपी जीते और न कांग्रेस जीते. दूसरा आंध्र प्रदेश में भी जगनमोहन रेड्डी हमारे करीबी दोस्त हैं. उनसे भी हमारी बात चल रही है. कोशिश हो रही है कि वह भी वहां 20 से ज्यादा सीटें जीत पाएं. महाराष्ट्र में प्रकाश आंबेडकर के साथ गठबंधन है. बाकी जगहों पर जो होगा देखा जाएगा. हिन्दुस्तान में 350 ऐसी सीटें हैं जहां क्षेत्रीय पार्टी काफी मजबूत हैं. बिना इनके कुछ होने वाला नहीं है. अगर 2019 में रिजनल पार्टी 30% वोट क्रॉस करते हैं तो यकीनन उनके बिना कोई सरकार नहीं बनेगा. मेरी ख्वाइश है कि इस मुल्क को नॉन कांग्रेस और नॉन बीजेपी सरकार मिले.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus