23 जुलाई 2019, मंगलवार | समय 12:28:31 Hrs
Republic Hindi Logo

बिहार: महिला कैदी का आरोप, जेल में कराया जाता है यौन शोषण

By Republichindi desk | Publish Date: 4/14/2019 10:57:19 AM
बिहार: महिला कैदी का आरोप, जेल में कराया जाता है यौन शोषण

पटना: मुजफ्फरपुर बालिका गृह यौन शोषण कांड के बाद एक बार फिर मुजफ्फरपुर सुर्खियों में है. इस बार एक महिला बंदी ने यौन शोषण कराए जाने का आरोप लगाया है. मामला मुजफ्फरपुर जेल से जुड़ा हुआ है. महिला कैदी द्वारा यौन शोषण कराए जाने का आरोप लगाए जाने के बाद जेल महकमे में हड़कंप की स्थिति है. आनन-फानन में जांच टीम का भी गठन कर दिया गया है.

पीएम को लिखा गया पत्र

शहीद खुदीराम बोस केंद्रीय कारा की एक महिला बंदी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक पत्र भेज सनसनी फैला दी है. पत्र में उसने कहा है कि जेल में महिला बंदियों को शारीरिक संबंध बनाने को मजबूर किया जाता है. पदाधिकारियों व राइटर (बंदी) के साथ संबंध नहीं बनाने पर अत्याचार किया जाता है. वहीं, जो महिला बंदी समर्पण कर देतीं उन्हें मोबाइल से बात करने समेत अन्य सुविधाएं मिलती हैं. महिला बंदी के इस पत्र पर प्रधानमंत्री कार्यालय हरकत में आ गया है. सेक्शन पदाधिकारी जितेंद्र कुमार मंडल ने राज्य के मुख्य सचिव और डीएम से मामले की रिपोर्ट मांगी है.

डीएम ने पांच सदस्यीय जांच टीम का किया गठन

शिकायत के आलोक में डीएम आलोक रंजन घोष ने पांच सदस्यीय जांच टीम का गठन किया है. टीम को एक सप्ताह में रिपोर्ट देने को कहा गया है. डीएम ने डीपीओ ललिता सिंह की अध्यक्षता में जांच टीम बनाई है. उनके अलावा टीम में मुशहरी ग्रामीण की सीडीपीओ मंजू कुमारी, महिला विकास निगम के जिला परियोजना प्रबंधक मो. गौस अली, वरीय उपसमाहर्ता प्रतिभा सिन्हा व महिला हेल्पलाइन की परामर्शी पूर्णिमा कुमारी शामिल हैं.

कैदी का आरोप खाना तक हो जाता है बंद

महिला कैदी के अनुसार यौन संबंध बनाने का विरोध करने पर खाना बंद कर दिया जाता है और झूठे आरोप लगाकर पिटवाया जाता है. तीन महिला सिपाहियों के नाम का जिक्र करते हुए महिला कैदी ने कहा है कि चार मार्च को इसमें से एक महिला सिपाही ने उसकी बेटी को पदाधिकारी के साथ संबंध बनाने का दबाव डाला. विरोध पर उसकी इतनी पिटाई की गई कि वह बेहोश हो गई.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus