22 मई 2019, बुधवार | समय 16:45:25 Hrs
Republic Hindi Logo

झारखंड में आधे दर्जन सायबर क्रिमिनल फंसे चंगुल में

By Republichindi desk | Publish Date: 3/14/2019 11:03:38 AM
झारखंड में आधे दर्जन सायबर क्रिमिनल फंसे चंगुल में

गिरिडीह : साइबर क्रिमिनलों के खिलाफ पुलिस को एक बार फिर बड़ी सफलता हाथ लगी है. इस बार साइबर सेल की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर छह साइबर अपराध के आरोपियों को धर दबोचा.साइबर डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी के नेतृत्व में टीम गठित कर बेंगाबाद थाना क्षेत्र के विभिन्न स्थानों पर छापेमारी कर पुलिस ने सभी नटवरलालों को गिरफ्तार करने में सफलता पाई है.छापेमारी में साइबर सेल के अलावे स्थानीय पुलिस की टीम सहयोग कर रही थी.गिरफ्तार अपराधियों के पास से पुलिस ने मोबाइल एटीएम कार्ड समेत कई सामग्रियाँ भी बरामद की हैं.

हाथ लगे हैं कई अहम सुराग- डीएसपी

बुधवार की शाम को एक प्रेस वार्ता कर साइबर सेल के डीएसपी संदीप सुमन समदर्शी ने इस मामले की पूरी जानकारी दी.उन्होंने बताया कि टीम गठित कर बेंगाबाद के डाकबंगला, बिशनपुर और बांसजोर में छापेमरी की गई और सभी आरोपियों को जाल बिछाकर दबोचा गया.डीएसपी ने बताया कि यह पुलिस की बड़ी सफलता है.पुलिस को साइबर अपराध के मास्टरमाइंड का पता गिरफ्तार अपराधियों के द्वारा मिला है, और इसके खिलाफ कई सबूत भी हाथ लगे हैं. उन्होंने कहा कि इस धंधे में शामिल एक सफेदपोश का चेहरा सामने आया है, जो साइबर अपराधियों को संरक्षण देने और इनके साथ मिली भगत कर कमीशन खाने का काम करते हैं.बताया कि इन अपराधियों का तार एक मुखिया पति से जुड़ा हुआ पाया गया है.पुलिस टीम सबूतों के आधार पर आगे की कार्रवाई में जुटी हुई है.जल्द ही सरगना का पर्दाफाश किया जाएगा.

इन आरोपियों को पुलिस ने दबोचा

साइबर अपराध के खिलाफ इस कार्रवाई में पुलिस टीम ने बेंगाबाद थाना क्षेत्र के बिशनपुर से प्रवीण मंडल, टिकलटो से कुलदीप पंडित, डाकबंगला से दिलीप कुमार, बांसजोर से संजय मंडल और सुनील मंडल के अलावे मधुपूर थाना क्षेत्र के जगदीशपुर के रहने वाले मुख्तार अंसारी को गिरफ्तार किया है.

कई सामग्रियाँ बरामद

बताया गया कि सभी अपराधियों के पास से कई कई आपत्तिजनक सामग्रियाँ बरामद की गई हैं.जिसमें सात स्मार्ट फ़ोन, अलग अलग बैंकों के छह डेबिट कार्ड के अलावे बैंक पासबुक समेत मनी ट्रंजेक्शन का प्रमाण भी पाया गया है.पुलिस की टीम गहन जांच पड़ताल में जुटी हुई है, ताकि अपराधियों के जुड़े तार के तह तक पहुंचकर कड़ी कार्रवाई की जा सके.


Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus