17 जुलाई 2019, बुधवार | समय 12:00:44 Hrs
Republic Hindi Logo

लालू को नहीं मिली जमानत तो होगी बड़ी मुश्किल, जेल से बाहर आना जरूरी

By Republichindi desk | Publish Date: 12/19/2018 8:12:07 AM
लालू को नहीं मिली जमानत तो होगी बड़ी मुश्किल, जेल से बाहर आना जरूरी

पटना: राष्ट्रीय जनता दल सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव कई बीमारियों से गुजर रहे हैं. चारा घोटाले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव फिलहाल रांची के रिम्स अस्पताल के पेइंग वार्ड में हैं. उनकी स्वास्थ्य संबंधी चिंताएं लगातार बनी हुई हैं. आगामी लोकसभा चुनावों को लेकर उनका जेल से बाहर आना भी उनकी पार्टी के लिए बेहद जरूरी है.

 
राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं लालू, सिंबल पर होंगे हस्ताक्षर
 
लालू प्रसाद यादव अपनी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं. चुनाव आयोग में लालू प्रसाद यादव ही उम्मीदवारों के चयन के लिए अधिक के तौर पर पंजीकृत हैं. आगामी लोकसभा चुनावों में राजद के उम्मीदवारों को मैदान में उतारने के लिए लालू के हस्ताक्षर वाले सिंबल ही जरूरी होंगे. जिस तरह देश भर में माहौल बन रहा है, उसमें जेल में बंद रहकर लालू प्रसाद यादव नीतियां नहीं बना सकते हैं. बेशक तेजस्वी यादव बढ़िया काम कर रहे हैं, लेकिन जो बात लालू में है वह अभी तेजस्वी में नहीं आ सकती है. जानकारों की मानें तो लालू प्रसाद यादव का जेल से बाहर आना इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि यदि उन्होंने उम्मीदवारों के सिंबल दस्तखत नहीं किया तो कोई भी उम्मीदवार चुनाव नहीं लड़ पाएगा. तकनीकी पक्ष की यदि बात करें तो यदि राजद को मजबूती से लोकसभा चुनाव में उतरना है तो या तो लालू प्रसाद यादव की जमानत पर रिहाई हो या फिर राजद कोई नया राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने. जमानत के लिए कोर्ट में प्रार्थना की गई है लेकिन इतनी जल्दी राजद का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना जाना संभव ही नहीं है.
 
बीमारियों से उबर रहे हैं लालू लेकिन देखभाल बेहद जरूरी
 
लालू प्रसाद यादव को कई तरह की बीमारियां हैं. इन बीमारियों से लालू धीरे-धीरे उबर भी रहे हैं लेकिन उन्हें पूरी तरह निजात नहीं मिल पाई है. जानकारों की मानें तो लालू प्रसाद यादव को जिन बीमारियों ने घेर रखा है, वे बीमारियां पूरी तरह ठीक नहीं हो सकती हैं. उनको परिवार के बीच रखकर देखभाल किया जाना बेहद जरूरी है. हालांकि अपनी तरफ से वे पूरी कोशिश कर रहे हैं लेकिन न्यायिक हिरासत में रहे लालू काफी मानसिक दबाव में भी हैं. तेज प्रताप यादव प्रकरण ने भी लालू प्रसाद यादव को बेहद आहत किया है. लालू यदि बाहर रहते तो शायद बात इतनी आगे नहीं बढ़ पाती. परिवार पर नियंत्रण रखने की जो कला लालू में है वह राबड़ी, मीसा या परिवार के दूसरे सदस्यों में संभव ही नहीं है. कुल मिलाकर माना जा रहा है यदि लालू प्रसाद यादव जमानत पर बाहर नहीं आते हैं तो पार्टी और परिवार को अभी मुश्किलों के दौर से गुजरना ही होगा.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus