17 जून 2019, सोमवार | समय 22:39:32 Hrs
Republic Hindi Logo

अमेरिका में मानव शव से खाद बनाने का काम शुरू

By Republichindi desk | Publish Date: 5/22/2019 1:01:51 PM
अमेरिका में मानव शव से खाद बनाने का काम शुरू

न्यूज डेस्कः  अमेरिका में मानव शवों से खाद बनाने की प्रक्रिया को मंजूरी मिल गई है. इसके तहत लोगों के पास यह विकल्प होगा कि वे खुद के शव को खाद बनाने के लिए दे सकें. इस प्रक्रिया को रीकम्पोजिशन कहा जाएगा. वॉशिंगटन के गवर्नर ने इस बिल पर दस्तखत कर दिए. बिल का मकसद अंतिम संस्कार और दफनाने से होने वाले कार्बन उत्सर्जन में कटौती करना है. वॉशिंगटन इसे लागू करने वाला पहला राज्य होगा. यह नियम अगले साल मई में लागू होगा.

सिएटल की एक कंपनी ने दिया था ऑफर

सबसे पहले मानव के शव से खाद बनाने का ऑफर सिएटल की एक कंपनी रीकम्पोज ने दिया था. नियम बनाने के लिए लड़ाई लड़ने वालीं और रीकम्पोज की संस्थापक कैटरीना स्पेड का कहना है. रीकम्पोजिशन शव को दफनाने या अंतिम संस्कार का विकल्प प्रदान करता है. यह प्राकृतिक होने के साथ सुरक्षित और टिकाऊ है. इससे न केवल कार्बन उत्सर्जन रुकेगा बल्कि जमीन की भी बचत होगी. प्रकृति के पास सीधे लौटने और जीवन-मृत्यु के चक्र में वापस जाने का विचार बहुत सुंदर है.

मानव खाद के ट्रायल भी हुए

मानव खाद के लिए कैटरीना ने वॉशिंगटन स्टेट यूनिवर्सिटी में बाकायदा ट्रायल भी किए. इसके लिए शव को स्टील के कंटेनर में सूखी घास, लकड़ियों और स्ट्रॉ के साथ 30 दिन तक बंद कर दिया गया. इस दौरान बैक्टीरिया ने शव को पूरी तरह डिकम्पोज कर दिया. प्रक्रिया से मिला उत्पाद सूखा और पोषक तत्वों से युक्त था, जिसका इस्तेमाल बगीचे में किया जा सकता था.

कैटरीना के अनुसार इस प्रक्रिया में हड्डियां और दांत तक पूरी तरह से गल गए. हमने ज्यादा तापमान बनाए रखा ताकि बैक्टीरिया (माइक्रोब्स) शवों को पूरी तरह से डिकम्पोज (गला) कर दें. रीकम्पोज प्रक्रिया में पहले जानवरों के शव को गलाकर खाद बनाई जाती थी. वॉशिंगटन यूनिवर्सिटी ने पाया कि प्रक्रिया इंसानों के शव में भी कारगर है.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus