24 अगस्त 2019, शनिवार | समय 02:42:14 Hrs
Republic Hindi Logo

अमेरिका-ईरान में तनाव,खाड़ी में युद्धपोत और मिसाइलों की तैनाती

By Republichindi desk | Publish Date: 5/11/2019 5:36:15 PM
अमेरिका-ईरान में तनाव,खाड़ी में युद्धपोत और मिसाइलों की तैनाती

न्यूज डेस्कः युद्धपोत 'यूएसएस आर्लिंगटन' को खाड़ी में यूएसएस अब्राहम लिंकन लड़ाकू समूह में शामिल किया जाएगा. इसमें तैनात विमान जमीन और पानी दोनों पर दुश्मन के ठिकानों को निशाना बना सकते हैं. अमरीकी रक्षा विभाग पेंटागन का कहना है कि कतर के एक सैन्य ठिकाने पर बम बरसाने वाले US B-52 विमान भी भेजे जा चुके हैं. विभाग का कहना है कि मध्यपूर्व में मौजूद अमरीकी सेना को ईरान के संभावित खतरों से बचाने के लिए यह कदम उठाया गया है.

हालांकि खतरे क्या हैं, इस बारे में स्पष्ट रूप से कुछ नहीं कहा गया है. ईरान ने इन सब को बकवास बताया है. ईरान ने अमरीका की इस तैनाती को "मनोवैज्ञानिक युद्ध" बताया है, जिसका मकसद उनके देश को डराना है.

इससे पहले, अमरीकी विदेश मंत्री माइक पोम्पियो ने अपने यूरोप दौरे पर पत्रकारों से कहा था, "हमने ईरान की तरफ़ से उकसाने वाले कदम निश्चित तौर पर देखे हैं और हम खुद पर होने वाले किसी भी तरह के हमले के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराएंगे." हालांकि पोम्पियो ने ये स्पष्ट नहीं किया कि वो किन 'उकसाने वाली कदमों' के बारे में बात कर रहे थे. एक तरफ जहां अमरीका अपने सहयोगी देशों को ईरान से तेल न खरीदने पर मजबूर करके ईरान की अर्थव्यवस्था को धराशायी करना चाहता है वहीं ईरान का कहना है कि वो किसी भी हालत में झुकने वाला नहीं है.

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus