13 नवम्बर 2019, बुधवार | समय 09:33:53 Hrs
Republic Hindi Logo

आर्थिक कमजोरी के बाद अब शिक्षा की बदहाली से गुजर रहा पाक

By Republichindi desk | Publish Date: 7/10/2019 5:14:18 PM
आर्थिक कमजोरी के बाद अब शिक्षा की बदहाली से गुजर रहा पाक

रिपब्लिक डेस्कः पाकिस्तान को जहां आर्थिक रुप से कमजोर बताया जा रहा था वहीं एक चौंकाने वाला खुलासा पाकिस्तान की शिक्षा की बदहाली को लेकर हुआ है. संयुक्तज राष्ट्री की एक रिपोर्ट के अनुसार पाकिस्ता न में शिक्षा की मौजूदा स्थिति इतनी खराब है कि दुनिया के सतत विकास लक्ष्यों की साल 2030 तक की निर्धारित समय सीमा तक वहां हर चार में से एक बच्चा अपनी प्राथमिक शिक्षा भी पूरी नहीं कर पाएगा. यह रिपोर्ट बताती है कि आतंकवाद को पालने वाले इस देश में किस तरह लोगों को बुनियादी शिक्षा तक नसीब नहीं हो पा रही है.

वहीं समाचार पत्र डॉन की रिपोर्ट की माने तो यूनेस्कोल के आंकड़े बताते हैं कि आने वाले 12 वर्षों में पाकिस्तासन शिक्षा के आधे लक्ष्यं को ही हासिल कर पाएगा. देश में शिक्षा की जो मौजूदा दर है उसमें 50 फीसद युवा उच्च माध्यमिक तक की पढ़ाई भी पूरी नहीं कर पा रहे हैं. यूनेस्को इंस्टीट्यूट फॉर स्टेटिस्टिक्स के निदेशक सिल्विया मोंटोया ने कहा कि पाकिस्तारन को अपनी प्रतिबद्धताओं को पूरा करने की जरूरत है. यदि पाकिस्ता न लक्ष्यों को पूरा नहीं कर सकता है तो इसे निर्धारित करने का कोई मतलब नहीं है. आंकड़ों को दुरुस्त् करने के लिए पाकिस्तारन को बेहतर वित्ति और समन्व्य की जरूरत है.

उल्ले खनीय है कि पाकिस्ताान इन दिनों चौतरफा मुश्किलों से घिरा हुआ है. अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने कहा है कि पाकिस्तान की अर्थव्यवस्था बहुत नाजुक हालत में है जिसके लिए सख्त सुधारों की जरूरत है. पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार इस समय 8 अरब डॉलर यानी कि लगभग 55 हजार करोड़ रुपये से भी कम है. आइएमएफ ने कहा है कि बड़ी कमजोर और असंतुलित विकास की वजह से पाकिस्तान आर्थिक मोर्चे पर चुनौतियों का सामना कर रहा है. 
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus