22 अप्रैल 2019, सोमवार | समय 06:25:56 Hrs
Republic Hindi Logo

अमर सिंह को भाई भी बना लूं तोब भी लोग बातें ही बनायेंगे

By Republichindi desk | Publish Date: 2/2/2019 12:01:25 PM
अमर सिंह को भाई भी बना लूं तोब भी लोग बातें ही बनायेंगे

रिपब्लिक डेस्क- बॉलीवुड की मशहूर अभिनेत्री जयाप्रदा राजनीति में भी सक्रिय हैं. जयाप्रदा सांसद अमर सिंह को अपना गॉडफादर मानती हैं. अपने और अमर सिंह के रिश्ते पर जयाप्रदा कहती हैं कि अगर वह अमर सिंह को राखी भी बांध दें, तब भी लोग उनके बारे में बाते बनाना बंद नहीं करेंगे.जयाप्रदा ने सपा नेता और रामपुर से विधायक आजम खान पर भी गंभीर आरोप लगाए और दावा किया कि आजम खान ने उनके उपर तेजाब से हमला कराने की कोशिश की थी.

उत्तर प्रदेश के रामपुर से लोकसभा की पूर्व सदस्य ने सपा से निष्कासित किए जाने के बाद अमर सिंह के साथ राष्ट्रीय लोक मंच बनाया था. जयाप्रदा ने अमर सिंह के साथ अपने संबंधों के बारे में कहा कि मेरे जीवन में कई लोगों ने मेरी मदद की है और अमर सिंह जी मेरे गॉड फादर हैं'. जयाप्रदा ने मुंबई में क्वींसलाइन लिटरेचर फेस्टिवल में बातचीत के दौरान दावा किया, जिस परिस्थिति में मैं एक महिला के तौर पर आजम खान के साथ चुनाव लड़ रही थी. उस समय मुझ पर तेजाब हमला और मेरी जान को खतरा था.

जब कभी मैं घर से बाहर जाती मैं अपनी मां को यह भी नहीं बता सकती थी कि मैं जिंदा लौटूंगी या नहीं. उन्होंने कहा कि उनका समर्थन करने को कोई नेता सामने नहीं आया. अपनी बात आगे बढ़ाते हुए जयाप्रदा ने कहा, मुलायम सिंह जी ने मुझे एक बार भी फोन नहीं किया.जयाप्रदा ने आरोप लगाया कि जब उनकी तस्वीरों में विद्वेषपूर्ण बदलाव कर उसे सोशल मीडिया पर वायरल किया गया, तब उन्होंने आत्महत्या करने तक की सोची थी.उस वक्त अमर सिंह  डायलिसिस पर थे और मेरी तस्वीरों में विद्वेषपूर्ण बदलाव कर उसे क्षेत्र में फैलाया जा रहा था.मैं रो रही थी और कह रही थी कि अब मुझे और नहीं जीना है, मैं आत्महत्या करना चाहती हूं. मैं सदमे में थी और किसी ने मेरा समर्थन नहीं किया.

उन्होंने बताया, डायलिसिस से आने पर सिर्फ अमर सिंह जी मेरे साथ खड़े हुए उन्होनें मेरा समर्थन किया. आप उनके बारे में क्या सोचते हैं. गॉडफादर या फिर कोई और.............यदि मैं उन्हें राखी भी बांध दूं तब क्या लोग बातें करना बंद कर देंगे.......लोग क्या कहते हैं मुझे परवाह नहीं. जयाप्रदा ने कहा कि पुरूष प्रधान इस व्यवस्था में किसी महिला के लिए नेता बनना असली चुनौती है.एक पार्टी से सांसद रहने के दौरान भी मुझे नहीं बख्शा गया. आजम खान ने मुझे प्रताड़ित किया. 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus