23 सितम्बर 2019, सोमवार | समय 10:21:10 Hrs
Republic Hindi Logo

बिहार के इन जदयू नेताओं को बनाया जाएगा केंद्रीय मंत्री

By Republichindi desk | Publish Date: 5/27/2019 11:17:30 AM
बिहार के इन जदयू नेताओं को बनाया जाएगा केंद्रीय मंत्री

पटना: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रिकॉर्ड बहुमत के साथ जीत के बाद मंत्रिमंडल के गठन को लेकर कयासों का दौर जारी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 30 मई को प्रधानमंत्री पद की शपथ राष्ट्रपति भवन में ले सकते हैं. उनके साथ मंत्रियों को भी शपथ दिलाई जाएगी. बिहार से भी कई नेताओं के मंत्री बनने की चर्चा है. भारतीय जनता पार्टी के अलावा जनता दल यूनाइटेड के भी नेताओं के मंत्री बनने की पूरी संभावना है.

ललन सिंह और आरसीपी सिंह बनेंगे कैबिनेट मंत्री, संतोष कुशवाहा को भी मौका

बिहार के दो प्रमुख जदयू नेता इस बार संसद में हैं. जनता दल यूनाइटेड के राष्ट्रीय संगठन महासचिव रामचंद्र प्रसाद सिंह राज्यसभा में संसदीय दल के नेता हैं. इनके अलावा बिहार के मौजूदा जल संसाधन मंत्री और पार्टी के वरिष्ठ नेता राजीव रंजन सिंह उर्फ ललन सिंह बिहार की मुंगेर सीट से चुनाव जीत चुके हैं. इन दोनों नेताओं के कैबिनेट मंत्री बनने की संभावना है. यदि भारतीय जनता पार्टी जनता दल यूनाइटेड को कैबिनेट मंत्री के दो पद नहीं देगी तो एक कैबिनेट मंत्री के साथ ही एक राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार वाला मंत्रालय जरूर मिलेगा. ललन सिंह के मंत्री बनने की पूरी संभावनाएं हैं. खुद आरसीपी सिंह भी ललन सिंह को मंत्री बनाने की पुरजोर वकालत कर रहे हैं. बाहर के लोगों को भले यह लगता हो कि आरसीपी सिंह और ललन सिंह में मतभेद है लेकिन आरसीपी सिंह ने मुंगेर के चुनाव में खुलकर ललन सिंह के लिए जी तोड़ मेहनत की थी. आरसीपी सिंह से जितना संभव था उन्होंने ललन सिंह को चुनाव जिताने के लिए जबरदस्त प्रचार अभियान चलाया था. आरसीपी सिंह भी चाहते हैं कि ललन सिंह को केंद्र में मंत्री बनाया जाए. यदि दो कैबिनेट मंत्री का पद जदयू को मिलेगा तो आरसीपी और ललन दोनों कैबिनेट मंत्री बनेंगे. यदि कैबिनेट मंत्री का एक पद जदयू को दिया जाएगा तो ललन और आरसीपी में कोई एक कैबिनेट मंत्री बनेंगे जबकि दूसरा राज्य मंत्री स्वतंत्र प्रभार के तौर पर मंत्री बनेंगे. संतोष कुशवाहा के नाम की भी चर्चा है. पूर्णिया से संतोष कुशवाहा दो बार चुनाव जीत चुके हैं. पिछले चुनाव में मोदी लहर के बावजूद जनता दल यूनाइटेड के उम्मीदवार के तौर पर बहुत बड़ी जीत इन्होने हासिल की थी. इस बार भी उन्होंने महागठबंधन प्रत्याशी उदय सिंह उर्फ पप्पू सिंह को धूल चटा दी है. उपेंद्र कुशवाहा के महागठबंधन में शामिल होने के बाद एनडीए को एक कुशवाहा चेहरे की जरूरत है. उस जरूरत को पूरा करने के लिए पार्टी के रणनीतिकारों की नजर संतोष कुशवाहा पर टिकी है. संतोष कुशवाहा को राज्यमंत्री बनाया जा सकता है.

मंत्रालय पर टिकी लोगों की नजरें

ललन सिंह और आरसीपी सिंह का केंद्र में मंत्री बनना तय है लेकिन अब चर्चा विभागों की हो रही है. जदयू की तरफ से महत्वपूर्ण विभाग लिए जाने की चर्चा है. पार्टी दो महत्वपूर्ण विभाग अपने वरिष्ठ नेताओं के लिए जरूर लेगी. जद यू थिंक टैंक से जुड़े नेताओं में यह सहमति बन चुकी है कि आम जनता के लिए सरोकार तथा उपयोगी साबित होने वाले मंत्रालय ही जनता दल यूनाइटेड लेगी. रेल, जल संसाधन, कृषि, ग्रामीण विकास, भूतल परिवहन, उपभोक्ता एवं खाद्य मामले, इस्पात मंत्रालय जैसे प्रमुख मंत्रालयों पर जनता दल यूनाइटेड अपना दावा ठोक सकता है. लोगों को भले यह हास्यास्पद लगे लेकिन इतना तय है कि जनता दल यूनाइटेड को नाराज कर भारतीय जनता पार्टी कोई फैसला नहीं ले सकती है. बिहार सरकार मंत्रिमंडल में भी भारतीय जनता पार्टी के पास कई महत्वपूर्ण मंत्रालय हैं. लिहाजा इस फार्मूले के आधार पर भी जदयू अपना दावा जरूर वहां रखेगा.
यह भी देखें-

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus