23 अक्तूबर 2019, बुधवार | समय 05:33:38 Hrs
Republic Hindi Logo

18 अक्टूबर तक अध्योध्या मामले में आ सकता है फैसला

By Republichindi desk | Publish Date: 9/18/2019 12:28:21 PM
18 अक्टूबर तक अध्योध्या मामले में आ सकता है फैसला

न्यूज डेस्कः अयोध्या अयोध्या भूमि विवाद मामले का सुप्रीम कोर्ट में रोज सुनवाई चल रहा है. चीफ जस्टिस रंजन गोगोई की अध्यक्षता में पांच जजों की बेंच इस पर सुनवाई की जा रही है. बुधवार को सीजेआई रंजन गोगोई ने सभी पक्षकारों से अपनी दलीलें पूरी करने के बारे में पूछा. सीजेआई ने कहा कि सुनवाई तय समय पर खत्म हो जाए और यह 18 अक्टूबर से आगे न बढ़े. इसके लिए सभी को मिलकर सहयोग करना चाहिए. कोर्ट ने कहा कि  जरूरत पड़ी तो कोर्ट सुनवाई का समय एक घंटा बढ़ा सकती है, इसके लिए शनिवार को भी सुनवाई के लिए तैयार हैं.

मुस्लिम पक्षकारों को एक सप्ताह में दलील खत्म करने  कहा गया

इस पर सुन्नी वक्फ बोर्ड की ओर से वकील राजीव धवन ने कहा- मुस्लिम पक्षकारों को मौजूदा सप्ताह और अगला पूरा सप्ताह दलीलें खत्म करने में लगेगा. हिंदू पक्षकारों ने कहा कि उस पर विपक्ष की दलीलों पर जवाब देने के लिए हमें दो दिन लगेंगे. धवन ने कहा कि उसके बाद मुझे भी दो दिन लगेंगे. निर्मोही अखाड़ा की ओर से समय नहीं बताया गया. उन्होंने कहा कि कुछ दिन हमें भी चाहिए.

पक्षकारों के बीच मध्यस्थता की रिपोर्ट सौंपी जाए, सुनवाई जारी रहेगी: सीजेआई

चीफ जस्टिस ने कहा कि सभी पक्ष अपनी दलीलें 18 अक्टूबर तक पूरी कर लें. हमें मिलजुल कर प्रयास करना चाहिए कि सुनवाई तय वक्त में खत्म हो जाए. सीजेआई ने मामले में पक्षकारों के मध्यस्थता प्रक्रिया शुरू करने की मांग पर कहा कि अगर दो पक्ष आपस में मध्यस्थता के जरिए विवाद सुलझाने का प्रयास करना चाहते हैं तो वे कर सकते हैं. मगर सुनवाई जारी रहेगी. अगर मध्यस्थता पर कोई बात बनती है तो इसकी रिपोर्ट कोर्ट को दी जाए. इसे लेकर गोपनीयता बनी रहेगी.

विवाद को हल करने के लिए अयोध्या वार्ता कमेटी मध्यस्थता करेगी. इसमें हिंदू और मुसलमान दोनों नेताओं को शामिल किया जाएगा. मध्यस्थता प्रक्रिया संभवत: अक्टूबर से शुरू होगी.इससे 18 अक्टूबर तक रामजन्म भूमि मामले में फैसला आने की उम्मीद बढ़ गयी है.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus