17 अक्तूबर 2019, गुरुवार | समय 20:45:22 Hrs
Republic Hindi Logo

मोकामा बख्तियारपुर फोर लेन सड़क कंपनी के इंजीनियर की मौत

By Republichindi desk | Publish Date: 5/4/2019 11:25:51 AM
मोकामा बख्तियारपुर फोर लेन सड़क कंपनी के इंजीनियर की मौत
पटना: मोकामा बख्तियारपुर फोरलेन सड़क निर्माण कंपनी के इंजीनियर की मौत हादसे में हो गई है. कंपनी की हाईवा गाड़ी की चपेट में आने से इंजीनियर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई.
यह भी देखें-

सरहन टाल के पास हुआ हादसा
 
मोकामा फोरलेन सड़क निर्माण कंपनी में कार्यरत इंजीनियर की मौत सरहन टाल के पास हुई है. जानकारियों के मुताबिक इंजीनियर उज्जवल राज सरहन टाल के पास कंपनी के कार्य का रिजल्ट करवा रहे थे. इसी दौरान उसी कंपनी में भाड़े पर चलने वाली गाड़ी का चालक लापरवाही से उन्हें कुचल दिया. हाइवा गाड़ी का चालक बिना देखे गाड़ी को बैक कर रहा था. रफ्तार में अपनी गाड़ी को बैक करने के दौरान उसने इंजीनियर को कुचल दिया. इंजीनियर की घटनास्थल पर ही मौत हो गई है.

गम में डूबा परिवार
 
हादसे के बाद उनका परिवार गम में डूब चुका है. कामगार भी इंजीनियर की मौत के बाद बेहद दुखी हैं. इंजीनियर काफी अच्छे स्वभाव के थे. कामगारों ने बताया कि उनकी छवि काफी अच्छी थी और उनका व्यवहार भी काफी अच्छा था.

इंजीनियर की मौत में कंपनी की लापरवाही उजागर
 
मोकामा बख्तियारपुर फोर लेन सड़क निर्माण कंपनी में कार्यरत इंजीनियर उज्जवल राज की मौत के मामले में निर्माण कंपनी की बड़ी लापरवाही उजागर हुई है. सरहन टाल के जिस पॉइंट पर इंजीनियर से काम लिया जा रहा था, वहां अचानक कंपनी की हाईवा गाड़ी द्वारा इंजीनियर को कुचल दिया जाना कई सवाल खड़े कर रहा है. इंजीनियर के अलावा और भी कई लोग वहां पर मौजूद थे लेकिन किसी को चोट तक नहीं आई. उज्जवल राज ही अकेले दुर्घटना की चपेट में इस कदर आए कि मौके पर ही उनकी मौत हो गई. हैरानी इस बात की है कि फोरलेन सड़क निर्माण कंपनी की हाइवा गाड़ी से घटना हुई और चालक घटना के बाद भाग निकला लेकिन कंपनी प्रबंधन इस मामले में रहस्यमय तरीके से चुप्पी साधे हुए है. हैरानी इस बात की है कि आखिर जब कंपनी के इंजीनियर की मौत कंपनी के निर्माण स्थल पर ही हो गई तो आखिर किस परिस्थिति में हाईवा चालक को भागने दिया गया. परिजनों की मानें तो कंपनी द्वारा कोई मुकम्मल जानकारी भी घटना के बाद नहीं दी गई थी. इंजीनियर की मौत घटनास्थल पर ही हो जाने के बावजूद काफी घंटे बाद तक इलाज के लिए भेजे जाने की बात कही जाती रही. परिजनों में इसी बात को लेकर ज्यादा नाराजगी थी. मोकामा बख्तियारपुर फोर लेन सड़क का निर्माण कार्य चड्ढा एंड चड्ढा कंपनी द्वारा कराया जा रहा है. सीएनसी कंपनी के प्रोजेक्ट साइट पर ही इंजीनियर की मौत के बाद कंपनी के कई अभियंताओं और कामगारों में भी प्रबंधन के प्रति खासा रोष था.
यह भी देखें-

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus