17 जून 2019, सोमवार | समय 08:10:37 Hrs
Republic Hindi Logo

बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत, कई अस्पताल में भर्ती

By Republichindi desk | Publish Date: 5/28/2019 12:08:31 PM
बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत, कई अस्पताल में भर्ती

न्यूज डेस्कः उत्तर प्रदेश में एक बार फिर जहरीली शराब ने अपना कहर बरपाया है. बाराबंकी में जहरीली शराब पीने से 12 लोगों की मौत हो गई, जबकि कई लोग अस्पताल में भर्ती हैं. बताया जा रहा है कि इन लोगों ने देशी शराब के ठेके से शराब लेकर पी थी, लेकिन ठेकेवाले ने उन्हें मिलावटी शराब दे दी. शराब पीने के बाद अचानक इन लोगों को दिखना बंद हो गया और इनमें से 12 की मंगलवार सुबह तक जान चली गई.

इस दर्दनाक घटना से कई घरों में तो लाशों को कंधा देने वाला भी कोई नहीं बचा. हालांकि प्रशासन ने अभी तक आठ लोगों की मौत होने की पुष्टि की है. वहीं सीएम ने पूरे मामले में दुख व्यक्त करते हुए सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए हैं.

मृतकों की संख्या में और इजाफा होने का अनुमान लगाया जा रहा है. मरने वाले एक ही दलित परिवार के हैं. योगी सरकार ने इस मामले में डीईओ बाराबंकी शिव नारायण दूबे, आबकारी निरीक्षक रामतीरथ मौर्य, 3 हेड कांस्टेबल और सर्कल के 5 कांस्टेबल को निलंबित कर दिया है.

इस घटना में जिन लोगों की मौत हुई है वो सभी पुरुष हैं.मृतक के परिजनों का कहना है कि खाना खाने के बाद सभी ने शराब पी थी. हालांकि, खाने में जहर होने के शक के मद्देनजर भी पुलिस जांच कर रही है. लेकिन मौत उन्हीं लोगों की हुई है, जिन्होंने शराब पी थी. मृतकों में से एक की बॉडी पोस्टमॉर्टम के लिए लाई गई है. मौत की वजह पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट आने के बाद ही सामने आएगी कि मामला जहरीली शराब का है या खाने में जहर होने की वजह से मौत हुई है.

बता दें कि प्रदेश मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मरने वालों के प्रति गहरी संवेदना वयक्त की और कड़ी कार्रवाई के आदेश दिए हैं. सीएम योगी ने डीएम और एसपी को तुरंत मौके पर पहुंचने और मेडिकल सुविधाएं उपलब्ध करवाने के आदेश दिए. इसके अलावा दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के आदेश देते हुए योगी ने प्रिंसिपल सेक्रटरी एक्साइज को भी तुरंत जांच के आदेश दिए.

मालूम हो कि कुछ महीने पहले ही उत्तर प्रदेश और उत्तराखंड में जहरीली शराब से भारी संख्या में मौत हुई थी. सहारनपुर, रुड़की और कुशीनगर में जहरीली शराब पीने से 98 लोगों की मौत हो गई थी.सहारनपुर के 64, रुड़की में 26 और कुशीनगर में 8 लोगों की मौत हुई थी. तब इस मामले में प्रशासन की लापरवाही के लिए सरकार ने नागल थाना प्रभारी सहित दस पुलिसकर्मा और आबकारी विभाग के तीन इंस्पेक्टर व दो कांस्टेबल को सस्पेंड कर दिया था.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus