26 मार्च 2019, मंगलवार | समय 04:43:04 Hrs
Republic Hindi Logo

सिपाहियों के लिए एक बार फिर भगवान साबित हो रहे कुंदन कृष्णन

By Republichindi desk | Publish Date: 1/11/2019 9:10:56 AM
सिपाहियों के लिए एक बार फिर भगवान साबित हो रहे कुंदन कृष्णन

पटना: बिहार पुलिस के अपर पुलिस महानिदेशक मुख्यालय कुंदन कृष्णन को भले ही पुलिस अधिकारियों में दबंग अधिकारी के तौर पर जाना जाता हो लेकिन सिपाहियों के लिए वे किसी भगवान से कम नहीं है. बिहार पुलिस के सिपाहियों के बीच बेहद लोकप्रिय कुंदन कृष्णन ने एक बार फिर ऐसा फैसला लिया है, जिससे सिपाहियों के एक बड़े वर्ग में उन्हें भगवान जैसा पुलिस पदाधिकारी बताया जा रहा है. सिपाहियों के बीच पहले भी कुंदन कृष्णन काफी लोकप्रिय रहे थे.

मामूली गलतियों पर निलंबित सिपाहियों को मिलेगी राहत

कुंदन कृष्णन ने एक बेहद शानदार फैसला लिया है. मामूली गलतियों पर एसपी द्वारा निलंबित किए गए सिपाही जल्द ही निलंबन मुक्त हो जाएंगे. एडीजी हेड क्वार्टर ने सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को पत्र लिखकर समीक्षा करने को कहा है. पुलिस मुख्यालय सूत्रों के अनुसार सभी जिलों के एसपी द्वारा निलंबित पुलिसकर्मियों के मामलों की समीक्षा करने का आदेश दिया गया है. इतना ही नहीं यह भी निर्देश दिया गया है कि यदि छोटी-मोटी गलतियों के कारण सिपाही निलंबन की सजा झेल रहे हैं तो उन्हें तत्काल निलंबन मुक्त करते हुए विभिन्न जगहों पर पदस्थापित किया जाए.

आज सभी एसपी बैठेंगे पुलिस लाइन में

एडीजी हेडक्वार्टर कुंदन कृष्णन के निर्देश पर आज सभी जिलों के पुलिस अधीक्षकों को पुलिस लाइन में बैठना होगा. वैसे भी हर सप्ताह जिलों के एसपी को पुलिस लाइन में बैठकर समस्याएं सुननी होती है. पुलिस विभाग में एसपी के पुलिस लाइन में बैठने को लाइन डे कहा जाता है. हालांकि मुख्यालय के निर्देश पर अलग से सभी एसपी को बैठने के लिए कहा गया है और निलंबन का दंश झेल रहे सिपाहियों से जुड़े मामलों की समीक्षा कर तत्काल निलंबन मुक्त करने का निर्देश दिया है.

जब कुंदन कृष्णन की गाड़ी के आगे लेट गए थे सिपाही

मामला पटना जिले का है. कुंदन कृष्णन उस वक्त पटना जिले के सीनियर एसपी हुआ करते थे. अपराधियों में उनका खौफ उस दौर में ऐसा था कि कई अपराधियों ने शहर तो क्या राज्य छोड़ दिया था. पैसे से  सक्षम अपराधी देश छोड़कर नेपाल की ओर भाग निकले थे. सुस्त और काहिल पुलिस पदाधिकारियों को कुंदन कृष्णन बेहद नापसंद करते थे. हालांकि उस दौर में भी सिपाही के लिए वे भगवान जैसे ही थे। कई सिपाही उनको एसएसपी नहीं बल्कि भगवान तक कहा करते थे. यही कारण है कि जब कुंदन कृष्णन का तबादला पटना एसएसपी से भागलपुर कर दिया गया था तब सिपाहियों के एक बड़े वर्ग में खासी नाराजगी थी. आलम यह था कि जब कुंदन कृष्णन प्रभार सौंप कर भागलपुर के लिए जा रहे थे तो दर्जनों नहीं बल्कि सैकड़ों सिपाही पुलिस कार्यालय में जमा हो गए थे और कुंदन कृष्णन की गाड़ी के आगे लेट गए थे. आलम यह था कुंदन कृष्णन की गाड़ी आगे बढ़ नहीं पा रही थी. बड़ी मुश्किल से उन्होने खुद गाड़ी से उतरकर सभी सिपाहियों को समझाया बुझाया था. माहौल उस वक्त इतना भाव विह्वल हो गया था कि कई सिपाही रोने तक लगे थे. उन्होंने किसी तरह सिपाहियों को समझा कर पुलिस लाइन और थानों में भेजा था. आज एक बार फिर एडीजी हेड क्वार्टर रहते हुए उन्होंने ऐसा फैसला लिया है, जिससे सिपाहियों के एक बड़े वर्ग में उनके प्रति खुशी का भाव देखा जा रहा है.

यह भी देखें- 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus