26 अगस्त 2019, सोमवार | समय 07:00:53 Hrs
Republic Hindi Logo

क्रिकेट के सेलेक्टर बन गये हैं कठपुतली: सुनील गावसकर

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 7/29/2019 4:29:54 PM
क्रिकेट के सेलेक्टर बन गये हैं कठपुतली: सुनील गावसकर

रिपब्लिक डेस्क: एमएसके प्रसाद की अध्यक्षता वाली अखिल भारतीय चयन समिति ने वेस्टइंडीज दौरे के लिए कोहली को तीनों फॉर्मेट का कप्तान नियुक्त किया है. इस सीरीज की शुरुआत फ्लोरिडा में होने वाले टी-20 मुकाबलों से होगी. इस पर भारत के महान बल्लेबाजों में से एक सुनील गावस्कर ने सवाल उठाये हैं. वर्ल्ड कप सेमीफाइनल में भारत की हार के बाद भी विराट कोहली को कप्तान बनाने पर गावस्कर ने लिखा है कि ऐसा लगता है कि टीम इंडिया के सेलेक्टर कठपुतली बन गये हैं. विराट कोहली को दोबारा कप्तानी सौंपे जाने से पहले आधिकारिक बैठक होनी चाहिए थी.

बीसीसीआई के एक तबके का यह मानना था कि 2023 विश्व कप के ध्यान में रखते हुए तीनों फॉर्मेट के लिए अलग-अलग कप्तान बनाया जाना एक अच्छा कदम हो सकता था और इससे आने वाले समय में टीम को फायदा होता.

मिड-डे में प्रकाशित एक लेख में सुनील गावस्कर ने लिखा है कि अगर चयनकर्ता वेस्टइंडीज दौरे के लिए कप्तान का चयन बिना किसी मीटिंग के कर लिये हैं तो यह सवाल खड़ा होता है कि क्या कोहली अपनी बदौलत टीम के कप्तान हैं या फिर चयन समिति की खुशी के कारण हैं. गावस्कर ने लिखा कि हमारी जानकारी के मुताबिक विराट कोहली की नियुक्ति विश्व कप तक के लिए ही थी. इसके बाद चयनकर्ताओं को इस मसले पर मीटिंग बुलानी चाहिए थी. यह अलग बात है कि यह मीटिंग पांच मिनट ही चलती, लेकिन ऐसा होना चाहिए था.

इसके बाद सुप्रीम कोर्ट की ओर से गठित प्रशासकों की समिति (सीओए) ने साफ कर दिया कि वह विश्व कप में टीम के प्रदर्शन पर रिव्यू बैठक नहीं बुलाएगी, लेकिन वह इस विश्व कप में टीम के प्रदर्शन को लेकर टीम मैनेजर की रिपोर्ट पर विचार करेगी. गावस्कर ने पूरे मामले का माखौल उड़ाते हुए लिखा कि आखिरकार कोहली क्यों मनमाफिक टीम चुनने का हक पाते रहे हैं. गावस्कर ने लिखा, 'चयन समिति में बैठे लोग कठपुतली हैं. पुनर्नियुक्ति के बाद कोहली को मीटिंग में टीम को लेकर अपने विचार रखने के लिए बुलाया गया. प्रक्रिया को बाईपास करने से यह संदेश गया कि केदार जाधव, दिनेश कार्तिक को खराब प्रदर्शन के कारण टीम से बाहर किया गया, जबकि विश्व कप के दौरान और उससे पहले कप्तान ने इन्हीं खिलाड़ियों पर भरोसा जताया था और नतीजा हुआ था कि टीम फाइनल में भी नहीं पहुंच सकी.



 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus