22 अप्रैल 2019, सोमवार | समय 05:56:07 Hrs
Republic Hindi Logo

मरने के बाद दवा खिलाने जैसा है यह बजट: ममता बनर्जी

By Republichindi desk | Publish Date: 2/1/2019 4:11:28 PM
मरने के बाद दवा खिलाने जैसा है यह बजट: ममता बनर्जी

कोलकाताः केंद्र सरकार के वित्तप्रभार मंत्री पीयूष गोयल ने आज अंतरिम बजट पेश किया.बजट में किसानों को हर साल 6 हजार रुपये.पांच लाख की आय करने वाले लोगों को टैक्स फ्री करने समेत कई लोकलुभावन वादे किये.इस बजट पर पश्चिम बंगाल की मुख्य मंत्री ममता बनर्जी ने अपनी प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि यह बजट मरने के बाद औषधि खिलाने जैसा है. इस सरकार के जाने का समय आ गया तो लोकलुभावन बजट पेश किया है.

एमएसएमई के लिए 59 मिनट में लोन दिया जा रहा है. इसकी जांच कर देखा जाये कि यह ऋण किसे दिया जा रहा है. क्या बिना किसी जानकारी के किसी को लोन दिया जा सकता है. अभी क्या हवाला के माध्यम से रुपया भेजा जा रहा है. नोटबंदी पर ममता बनर्जी ने केंद्र सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि नोटबंदी में सारा रुपया तो बैंक में वापस लौट गया,फिर ब्लैकमनी कहां से बरामद किया गया.नोटबंदी,जीएसटी,राफेल मामला सरकार की दुर्नीति को दर्शाता है.

ममता बनर्जी ने कहा कि हम अपनी स्कीमों को पूरा करते है. किसी को झूठ बोल कर भ्रमित नहीं करते.केंद्र सरकार चिटफंड कंपनी की तरह काम कर रही है. उन्होंने कहा कि इससे पहले सत्ता का दुरुपयोग कभी नहीं देखा. इस बजट का कोई कोइ भविष्य नहीं है. आज बीजेपी सत्ता में है कल कोई दूसरा भी आ सकता है. जाने का समय आया तो लोगों को लुभाने की कोशिश की जा रही है.

ममता बनर्जी ने कहा कि हम कौशल विकास योजना के तहत बेरोजगार युवाओं को प्रशिक्षण दिये हैं. किसानों के लिए हमारी सरकार पहले ही योजना लागू कर चुकी है. इस बजट में नया कुछ भी नहीं है. इससे पहले सरकार क्या कर रही थी.यह बजट पूरी तरह आने वाले लोकसभा चुनाव को देख कर किया गया है.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus