21 नवम्बर 2019, गुरुवार | समय 03:35:55 Hrs
Republic Hindi Logo

हफ्ते में चार दिन काम, प्रोडक्शन बढ़ा 40 फीसदी, कंपनी को भारी लाभ

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 11/5/2019 2:39:42 PM
हफ्ते में चार दिन काम, प्रोडक्शन बढ़ा 40 फीसदी, कंपनी को भारी लाभ

रिपब्लिक हिंदी डेस्क: सप्ताह में चार दिन काम करने पर न केवल उत्पादन बढ़ गया बल्कि कंपनी को भी भारी लाभ हो गया. आप सोचते होंगे कि कंपनी ने कैसे इसकी अनुमति दी, तो आपको बता दें कि यह भारत का मामला नहीं है. यह एक्सपेरिमेंट जापान में किया गया. जापान की कंपनी माइक्रोसॉफ्ट जापान ने चार दिवसीय कार्य सप्ताह को लागू कर एक प्रयोग किया, जिससे कंपनी को लाभ भी हुआ.

यही नहीं हार्वर्ड बिजनेस रिव्यू के मुताबिक एक चीनी ट्रैवल एजेंसी ने भी 13 फीसदी प्रोडक्टिविटी बढ़ाने का अनुभव किया जब उसने कॉल सेंटर के कर्मचारियों को घर से काम करने की अनुमति दी. माइक्रोसॉफ्ट के जापान स्थित ऑफिस ने एक सप्ताह में चार दिन काम करने की प्रणाली को अगस्त में लागू कर एक एक्सपेरिमेंट किया. माइक्रोसॉफ्ट जापान के इस एक्सपेरिमेंट से कर्मचारियों की प्रोडक्टिविटी में 40 फीसदी वृद्धि पाई गई. 90 फीसदी से अधिक कर्मचारियों ने कहा कि वह काम करने के लिए छोटे सप्ताह को पसंद करते हैं. एक स्टडी में पाया गया था कि वर्क लाइफ बैलेंस कर्मचारियों की प्रोडक्टिविटी को बढ़ देता है.

फोर्ब्स की रिपोर्ट के मुताबिक माइक्रोसॉफ्ट ने बताया कि उसने इस एक्सपेरीमेंट के दौरान 23 फीसदी कम बिजली का इस्तेमाल किया, साथ ही 59 फीसदी कम पेजों को प्रिंट किया. Microsoft जापान सर्दियों के दौरान एक दूसरा प्रयोग करेगा और अधिक फ्लेक्सिबल वर्किंग को प्रोत्साहित करेगा, लेकिन इसमें शॉर्ट वर्क वीक शामिल नहीं होंगे.

पिछली कुछ स्टडी से पता चलता है कि कर्मचारियों को अधिक फ्लेक्सिबिलिटी देने से प्रोडक्टिविटी बढ़ जाती है, न्यूजीलैंड की एक कंपनी ने स्थायी रूप से 2018 में चार दिवसीय वर्कवीक को अपनाया था. कंपनी के इस ट्रायल के बाद प्रोडक्टिविटी में 24 फीसदी की वृद्धि हुई थी.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus