18 दिसम्बर 2018, मंगलवार | समय 21:36:39 Hrs
Republic Hindi Logo

चाय की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए 15 दिसंबर से पत्तियों को तोड़ने पर लगी रोक

By Republichindi desk | Publish Date: 11/23/2018 12:03:48 PM
चाय की गुणवत्ता बढ़ाने के लिए 15 दिसंबर से पत्तियों को तोड़ने पर लगी रोक

सिलीगुड़ीः भारतीय चाय की अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा बनाए रखने के लिए भारतीय टी बोर्ड ने 15 दिसंबर से चाय की पत्तियों को तोड़ने पर रोक लगा दी है. बोर्ड का यह निर्णय पश्चिम बंगाल के दार्जीलिंग समेत अन्य जिलों तथा सीमावर्ती बिहार में भी लागू होगा. इस दौरान बाटलीफ फैक्ट्रियां भी चाय की पत्तियों की खरीद नहीं कर सकेंगी. पूर्वोत्तर के राज्यों में 10 दिसंबर से ही यह निर्देश लागू हो जाएगा.चाय उद्योग से जुड़े सभी पक्षों ने बोर्ड के के इस निर्णय का स्वागत किया है .सूत्रों का कहना है कि इस निर्णय आगे आने वाले दिनों में चाय में 30 रुपये प्रतिकिलो तक वृद्धि हो सकती है. यह जानकारी गुरुवार को सिलीगुड़ी टी-ऑक्सन कमेटी की ओर से आयोजित बैठक में भारतीय टी-बोर्ड के चेयरमैन अरुण राय ने दी.

निर्देश की वजह से चाय की कीमत में आई तेजी

उल्लेखनीय है कि बोर्ड की ओर से 31 अक्टूबर को ही यह निर्देश जारी कर दिया गया था. इस निर्देश के बाद चाय की कीमतों में खासी उछाल देखी जा रही है. चाय उद्योग से जुडे व्यापारियों  का कहना है कि इससे कीमतों में लगभग 15 रुपये किलो तक की तेजी आ गई है. वहीं ऑक्सन कमेटी में चाय की बिक्री भी बढ़ गई है. इस विषय को लेकर सिलीगुड़ी टी-ऑक्सन कमेटी के चेयरमैन अजय गर्ग ने कहाकि चाय उद्योग से जुड़े सभी पक्ष इस निर्णय का स्वागत कर रहे हैं. इस निर्णय से विदेशों में भारतीय चाय की गुणवत्ता को सुधारने का अवसर मिलेगा. वहीं चाय के दामों में तेजी के लाभ से चाय बागानों के हालात भी सुधरेंगे. जिले के टॉप टी-कंपनियों के अधिकारियों ने टी-बोर्ड के इस निर्देश का स्वागत करते हुए इसे चाय उद्योग के हित में बताया.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus