23 अक्तूबर 2019, बुधवार | समय 07:09:03 Hrs
Republic Hindi Logo

बिहारी ठग ने पीएम मोदी का नाम लेकर राजस्थानी विधायक से 20.60 लाख रुपए ठगे

By लोकनाथ तिवारी | Publish Date: 10/8/2019 1:17:10 PM
बिहारी ठग ने पीएम मोदी का नाम लेकर राजस्थानी विधायक से 20.60 लाख रुपए ठगे

रिपब्लिक हिंदी डेस्क: वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और रेलवे सेक्रेटरी का परिचय देनेवाले और खुद को पीएम नरेंद्र मोदी का करीबी बताने वाले का रौब तो कोई भी खा जायेगा, भले ही वह विधायक ही क्यों न हों. इसी परिचय के झांसे में आ गये राजस्थान के बूंदी से विधायक अशोक डोगरा. बिहार के एक शातिर ठग ने विधायक अशोक डोगरा को फोन कर बताया कि वह वरिष्ठ आईएएस और रेलवे सेक्रेटरी है. ठेका दिलाने की बात कर उसने 20 लाख रुपए की ठगी कर ली. खुद को आईएएस अफसर बताने वाले ठग का नाम अमिताभ उर्फ अभिषेक सिन्हा बताया जा रहा है.

बिहारी ठग ने बड़ी चतुराई से ठगी को अंजाम दिया. उसने विधायक को फोन करके रेलवे के टेंडर दिलाने की बात कही और उनके जरिए नगरपरिषद के ठेकेदार अशोक चौधरी और उसके पार्टनर से सम्पर्क किया. वर्क ऑर्डर दिलाने के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए अपने खाते में भी डलवा लिए लेकिन न तो वर्क ऑर्डर मिला और न ही वह ठग. ठग ने बूंदी आने की बात कहते हुए विधायक को काफी समय तक लटकाये रखा. जब ठेकेदारों को अपने साथ ठगी का एहसास हुआ तो उन्होंने पुलिस की मदद ली. बूंदी के कोतवाली थाने में ठगी का मुकदमा दर्ज किया गया है.

कोतवाली थानाधिकारी घनश्याम मीणा के अनुसार पटना (बिहार) निवासी अमिताभ उर्फ अभिषेक सिन्हा नाम के शातिर ठग ने 6 अप्रैल को नगरपरिषद ठेकेदार से रेलवे टेंडर के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए अपने खाते में ट्रांसफर करवाए थे. थाने में ठगी का मामला दर्ज होने के बाद पुलिस ने आरोपी ठग के बैंक खाते का पता कर उसमें जमा 11 लाख 13 हजार रुपए का ट्रांजेक्शन रुकवा दिया. फिलहाल, मामले की जांच जारी है लेकिन आरोपी पुलिस की पकड़ से अब भी दूर है.
जानकारी के अनुसार 5 अप्रैल 2019 को पटना (बिहार) निवासी अमिताभ सिन्हा ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नाम का इस्तेमाल कर खुद को वरिष्ठ आईएएस और रेलवे सेक्रेटरी बताते हुए विधायक अशोक डोगरा को रेलवे में टेंडर दिलाने के लिए फोन किया. इसके बाद उनकी जान पहचान के नगर परिषद ठेकेदार अशोक चौधरी और उसके पार्टनर को बूंदी रेलवे स्टेशन से श्रीनगर रेलवे स्टेशन के बीच मिटटी डलवाने का वर्क ऑर्डर देने के नाम पर 20 लाख 60 हजार रुपए की राशि अपने खाते में डलवा ली.

कथित वरिष्ठ आईएएस अधिकारी और रेलवे सेक्रेटरी अमिताभ सिन्हा द्वारा वर्कऑर्डर देने के लिए 6 अप्रैल को बूंदी आने की बात कही थी. 6 अप्रैल को जब ठग ने इधर-उघर के बहाने बनाए और 6 अप्रैल शाम तक बूंदी नहीं पहुंचा तो पीड़ित ठेकेदार हरकत में आए. ठेकेदार अशोक चौधरी ने कोतवाली थाने में आकर आरोपी ठग के विरुद्ध धोखाधड़ी का मुकदमा दर्ज करवाया. इस मामले की जांच एसआई समजीदा बानो द्वारा की जा रही है. पुलिस जांच में आरोपी ठग अक्सर घर से फरार रहता है. पटना में उसने अपने एक वकील को आगे कर रखा है. वह खुद सामने नहीं आता. 

 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus