23 सितम्बर 2019, सोमवार | समय 21:11:24 Hrs
Republic Hindi Logo

सीएम पद को लेकर गरमायी बिहार की सियासत

By Republichindi desk | Publish Date: 9/11/2019 5:43:40 PM
सीएम पद को लेकर गरमायी बिहार की सियासत

न्यूज डेस्कः 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव में एनडीए के सीएम पद के उम्मीदवार को लेकर घमासान मचा हुआ है. इस विषय पर एनडीए में शामिल नेता एक दूसरे का टांग खिंचने पर लगा है. बता दे कि सीएम पद को लेकर बस तब छिड़ा जब, कुछ दिनों पहले बिहार बीजेपी के एमएलसी संजय पासवान ने नीतीश कुमार को लेकर कहा कि उन्हें बीजेपी के लिए सीएम पद छोड़ देना चाहिए. संजय पासवान ने कहा कि अब बिहार में बदलाव होना चाहिए और सूबे में बीजेपी का सीएम होने चाहिए. इस पर जेडीयू ने बीजेपी से सफाई मांग दी.

इस बीच बिहार में एनडीए के सहयोगी और एलजेपी प्रमुख रामविलास पासवान ने कहा कि नीतीश कुमार को बतौर सीएम प्रोजेक्ट करने में हम सबका समर्थन है, एलजेपी नीतीश कुमार से कोई एतराज नहीं हैं. कहा कि सीएम के चेहरे को लेकर एलजेपी ने कभी एतराज नहीं किया. बिहार में सरकार शानदार तरीके से चल रही है. किसी और को नेतृत्व देने का सवाल ही नहीं है.

उधर बुधवार को बिहार बीजेपी के वरिष्ठ  नेता और डिप्टी सीएम सुशील मोदी ने भी कहा कि नीतीश कुमार बिहार एनडीए के कैप्तान हैं. सुशील मोदी ने जारी राजनीतिक बहस पर विराम लगाते हुए ट्वीट कर कहा, 'नीतीश कुमार बिहार एनडीए के कैप्टन हैं और अगले साल होने वाले विधानसभा चुनाव में एनडीए के कैप्टन रहेंगे. जब कैप्टन चौके और छक्के लगा रहा हो और विरोधियों को हरा रहा हो तो बदलाव का सवाल ही नहीं उठता है.

उल्लेखनीय है कि बीजेपी एमएलसी संजय पासवान के बयान से प्रदेश में नई राजनीतिक बहस छिड़ गई थी. उन्होंने कहा था कि सीएम नीतीश कुमार को अब मुख्यमंत्री पद बीजेपी के लिए छोड़कर केंद्र की जिम्मेदारी संभालनी चाहिए. इतना ही नहीं उन्होंने कहा था कि सुशील मोदी को बिहार का सीएम बनना चाहिए. संजय पासवान के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए केसी त्यागी ने कहा था कि ऐसे गठबंधन को असहज बनाते हैं. त्यागी ने कहा था कि संजय पासवान को ऐसा बयान नहीं देना चाहिए था. वहीं जेडीयू प्रवक्ता संजय सिंह ने कहा था कि हमें किसी के सर्टिफिकेट की जरूरत नहीं है.

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus