18 दिसम्बर 2018, मंगलवार | समय 20:57:53 Hrs
Republic Hindi Logo

दो माह पहले ही ग्रामीणों को दिया बिजली कनेक्शनः नीतीश कुमार

By Republichindi desk | Publish Date: 12/5/2018 5:57:02 PM
दो माह पहले ही ग्रामीणों को दिया बिजली कनेक्शनः नीतीश कुमार

पटना: मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने बिहार के गांवों में बिजली देने का काम लक्ष्य से दो माह पहले ही पूरा कर लिया है. बेतिया में पत्रकारों से बातचीत के दौरान सीएम ने कहा कि 7 निश्चय योजना के तहत पूरे बिहार के हर इच्छुक परिवार तक इस साल के 31 दिसम्बर तक हमलोगों ने बिजली का कनेक्शन उपलब्ध कराने का लक्ष्य निर्धारित किया था जो निर्धारित समय सीमा से दो माह पहले ही 25 अक्टूबर को पूरा कर लिया गया है. सीएम बेतिया जिले के रामनगर प्रखंड अंतर्गत वनकटवा पंचायत के चम्पापुर गाँव का भ्रमण करने पहुंचे थे.

उन्होंने कहा कि पहाड़ी, जंगली और कुछ अन्य इलाकों में ऑफ ग्रिड के माध्यम से लोगों के घरों में बिजली पहुंचाई गई है. पहाड़ी इलाकों का निरीक्षण करने के बाद आज हम यहां पहुँचे हैं. यहाँ सोलर पावर प्लांट लगाने की जिम्मेवारी जिन्हें दी गयी थी वे ही अगले पांच सालों तक इसका मेंटेनेंस के साथ ही इस संबंध में आनेवाली समस्याओं का निराकरण भी करेंगे. उन्होंने कहा कि एलईडी बल्ब का जो उत्पादन हो रहा है उस संबंध में शिकायते भी आई है कि वह जल्द ही फ्यूज हो जा रहा है लेकिन यह राष्ट्रीय स्तर का विषय है. मुख्यमंत्री ने कहा कि यहाँ निरीक्षण और गाँव का भ्रमण करने के बाद हमने दो सुझाव दिया है. पहला यह कि लोगों के घरों तक सौर ऊर्जा के माध्यम से बिजली की आपूर्ति की जा रही है ऐसे में जब सूर्य नही निकलता है तो आपूर्ति नियमित रूप से हो सके , इसके लिए सौर ऊर्जा के जेनरेशन को बैट्री में प्रिजर्व करने की व्यवस्था होनी चाहिए. इसके अलावे जो बिजली के खंभे लगे हैं उसपर स्ट्रीट लाइट लगे ताकि गाँव के आस-पास और गलियों में भी प्रकाश की पर्याप्त व्यवस्था रहे. उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति या अन्य तबकों के जो भी आवासीय विद्यालय हैं वहां सोलर पावर प्लांट लगाने का हमने सुझाव दिया है ताकि लोगों में सौर ऊर्जा जो अक्षय ऊर्जा है उसके प्रति अवेयरनेस आये.

मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रिड के माध्यम से जो बिजली पहुंचाई जा रही है उसका एक निश्चित समय- सीमा है क्योंकि कोयला का भंडार दुनिया भर में सीमित है. हम चाहते हैं कि पूरे बिहार में सौर ऊर्जा का उयोग हो. जब तक सूर्य है तब तक कोई दिक्कत नही आनेवाली और पृथ्वी तो सूर्य पर ही निर्भर है. इसके लिए एक अभियान चलाना चाहिए. उन्होंने कहा कि पूरे बिहार में सिंचाई के लिए अलग एग्रीकल्चर फीडर लगाने का काम जारी है और आज यहाँ 5 किसानों को ऑफ ग्रिड के माध्यम से सिंचाई हेतु बिजली का कनेक्शन उपलब्ध कराकर इसकी शुरुआत कर दी गयी है. उन्होंने कहा कि जिस तरह से बिहार के हर इच्छुक परिवार को बिजली का कनेक्शन लक्ष्य के अनुरूप उपलब्ध कराया गया ठीक उसी प्रकार 31 दिसम्बर 2019 तक हर इच्छुक किसान को सिंचाई हेतु बिजली का कनेक्शन उपलब्ध कराने के साथ ही पुराने जर्जर बिजली के तारो को बदलने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है. उन्होंने कहा कि जगह-जगह जाकर देखने से भरोसा जगता है और लोगों की समस्याओं से अवगत होने का मौका मिलता है और उसी के अनुरूप नयी योजनाओं का निर्धारण होता है. अभी के जरूरत को देखते हुए यहाँ सोलर प्लेट लगा हुआ है आगे और अधिक जरूरत पड़ने पर सोलर प्लेट लगाए जाएंगे.

मुख्यमंत्री ने कहा कि पर्यावरण में हमारी काफी रुचि है. वन और वन्य जीवों की हर हाल में रक्षा होनी चाहिए. इस दृष्टिकोण से भी हम यहाँ आते रहते है. पत्रकारों के सवाल पर मुख्यमंत्री ने कहा कि यह कोई यात्रा नही स्पॉट विजिट है. अलग-अलग जिलों में जो खास चीजें है उसे देखने जाएंगे और जितना संभव होगा आकलन करके उसके अनुरूप चीजें आगे बढ़ाई जाएगी.

इस अवसर पर ऊर्जा मंत्री श्री बिजेंद्र प्रसाद यादव, सांसद श्री सतीश चंद्र दुबे, विधायक श्रीमती भागीरथी देवी, विधायक श्री रिंकू सिंह, विधान पार्षद श्री सतीश कुमार, मुख्य सचिव श्री दीपक कुमार, ऊर्जा विभाग के प्रधान सचिव श्री प्रत्यय अमृत, मुख्यमंत्री के विशेष कार्य पदाधिकारी श्री गोपाल सिंह, बेतिया जिलाधिकारी, बेतिया के पुलिस अधीक्षक, बगहा के पुलिस अधीक्षक श्री जयंतकांत सहित अन्य कई गणमान्य व्यक्ति, ऊर्जा विभाग के अन्य वरीय अधिकारीगण एवं बड़ी संख्या में स्थानीय लोग उपस्थित थे.
 

Copyright © 2018 Shailputri Media Private Limited. All Rights Reserved.

Designed by: 4C Plus